Categories
Other

जानिए अब किस तारीख को होगी दो’षि’यों को फां’सी?

नि’र्भ’या के द’रिं’दों की फां’सी 1 फरवरी को होने वाली थी. लेकिन दो’षि’यों के ऐन वक्त पर दया याचिका राष्ट्रपति को भेजने की वजह से फां’सी की तारीख आगे बढ़ा दी गई है. जिसके बाद भी शुक्रवार को सुबह से लेकर शाम तक फां’सी का ट्रायल चलता रहा, जिसके बाद सभी ये मान रहे थे कि शनिवार को दो’षि’यों को फां’सी पर लटका दिया जाएगा. साथ ही मेरठ से आए ज’ल्लाद पवन फां’सी के ड’मी ट्रायल कर रहे है.

आपको बता दें कि जल्ला’द ने फां’सी के ट्रायल के समय उसने अधिकारियों से फां’सी पर लटकाने की सारी चीजें की बारीकियों से समझने की कोशिश की है. जिसमें ज’ल्लाद की सबसे अधिक दिलचस्पी ये जानने में थी कि उसे कब लीवर खींचना है ये बात उसे कैसे समझना होगा. उसने जेल अधीक्षक से इस बारे में पूछा कि क्या उसे कोई इस पूरी प्रक्रिया में कोई खास इशारा किया जाएगा. जिस पर जे’ल अधिकारियों ने बताया कि उसे हाथ हिलाकर निर्देश दिया जाएगा कि अब वो लीवर खींच सकता है. साथ ही ज’ल्लाद ने अधिकारियों से ये बात भी पूछी कि अगर फां’सी घर से प्लेटफार्म तक पहुंचने के दौरान दो’षी हंगामा करने लगा तो हमें क्या करना होगा. जल्लाद के तमाम तरह के सवालों का जवाब जान लेने के बाद उसने कहा कि वो अब ट्रायल के दौरान फां’सी से जुड़ी हर चीजों को समझ चुका है। 

आपको बता दें कि जे’ल की तरफ से ये बात सामने आई है कि ट्रा’यल के दौरान ज’ल्लाद ने बक्सर से मंगाई हुई मनीला रस्सी से चारों कै’दि’यों के लिए फं’दा बनाया था. उसने सबसे पहले रस्सी को पके केले व मक्खन से मुलायम बनाने की प्रक्रिया पूरी की थी. जिसके बाद ट्रायल के दौरान ज’ल्लाद की यही कोशिश रहेगी कि चार पुतलों को लटकाने के लिए जिन दो अलग-अलग ली’वरों को दबाना होता उसे वो जल्दी से जल्दी ही पूरा कर ले. आपको बता दें कि उसने दोनों लीवरों को एक साथ दबाने की भी कोशिश की लेकिन जल्ला’द इसमें नाकाम रहा जिसके बाद जेल प्रशासन के एक कर्मचारी को लीवर दबाने में उसकी मदद करने को बोला गया।