Categories
Other

महिला दिवस: PM मोदी के सम्मान को 8 साल की इस बच्ची ने ठुकराया

8 मार्च को यानी की आज महिला दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपना सोशल मीडिया अकाउंट उन महिलाओं को संभालने के लिए दिया है, जिनकी जिंदगी और काम से हम सब को प्रेरणा मिलती है. आपको बता दें कि जलवायु कार्यकर्ता लिसिप्रिया कंगुजम ने पीएम मोदी के इस सम्मान को लेने से इनकार कर दिया है.

इस कार्यकर्ता लिसिप्रिया कंगुजम की उम्र 8 साल की है. सरकार ने लिसिप्रिया कंगुजम को एक प्रेरणा देने वाली बताया है, जानकारी के मुताबिक लिसिप्रया ने इस सम्मान पर नाराजगी जताई है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर आप मेरी आवाज को नहीं सुन रहे हैं तो कृपया मेरा सम्मान न करें.

दरअसल, आपको बता दें कि @MyGovIndia के ट्विटर हैंडल से लिसिप्रिया कंगुजम से जुड़ा एक ट्वीट किया गया. जिसमें बताया गया है कि लिसिप्रिया कंगुजम मणिपुर की एक बाल पर्यावरण कार्यकर्ता हैं. 2019 में उन्हें डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम चिल्ड्रन अवार्ड, विश्व बाल शांति पुरस्कार और भारत शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया. क्या वह प्रेरणादायक नहीं हैं?

इस पर लिसिप्रिया कंगुजम ने जवाब देते हुए बताया, ‘प्रिय नरेंद्र मोदी जी, अगर आप मेरी आवाज नहीं सुन रहे हैं तो कृपया मेरा सम्मान न करें. आपकी पहल #SheInspiresUs के तहत देश की प्रेरणादायक महिलाओं में मुझे चुनने के लिए धन्यवाद. कई बार सोचने के बाद मैंने इस सम्मान को ठुकरा दिया. जय हिंद!

आपको बता दें कि लिसिप्रिया कंगुजम पर्यावरण के मुद्दे पर काफी सक्रिय हैं. वो काफी वक्त से प्रधानमंत्री मोदी से जलवायु परिवर्तन पर कानून बनाए जाने की मांग कर रही हैं. हालांकि उनकी बात नहीं सुनी जा रही, इसको लेकर अब वो सरकार से नाराज भी हैं.

पीएम मोदी ने दिया सम्मान

दरअसल, बताते चलें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि इस महिला दिवस पर वो अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स को उन महिलाओं को संभालने के लिए देंगे, जिनका जीवन और काम हमें प्रेरित करता है. इससे उन्हें लाखों लोगों में प्रेरणा का संचार करने में मदद मिलेगी.