Categories
Other

केंद्र सरकार ने Aarogya Setu App पर उठ रहे सवालों का दिया जवाब, बोले- ‘डेटा सुरक्षा का नुकसान…’

देश में पिछले कई दिनों से कोरोना वायरस ट्रैकिंग मोबाइल एप ‘आरोग्य सेतु’ पर बड़े सवाल खड़े हो रहे हैं. आपको बता दें कि इससे निजता के उल्लंघन को लेकर उठ रहे सवालों पर सरकार ने जवाब दिया है. ‘आरोग्य सेतु’ टीम ने आज सुबह बयान जारी करके एप में डाटा सुरक्षा को नुकसान और निजता के उल्लंघन की बात को गलत बताया है. टीम ने कहा है कि इस एप के जरिए यूजर की निजता का उल्लंघन नहीं होता है.

आरोग्य सेतु एप में कोई खामी नहीं- सरकार

आरोग्य सेतु की तरफ से कहा गया कि एक हैकर ने कुछ सवाल उठाए थे लेकिन आरोग्य सेतु एप में कोई खामी नहीं पायी गई है. हम लगातार टेस्टिंग और अपने सिस्टम को अपग्रेड कर रहे हैं. एक हैकर ने इससे पहले आरोग्य सेतू को टैग करके ट्विटर पर दावा किया था कि इस एप से नौ करोड़ भारतीय यूजर्स की प्राइवेसी को खतरा है.

जानकारी के लिए आपको बता दें कि कल एक फ्रेंच हैकर ने आरोग्य सेतू एप को लेकर बड़ा दावा किया था. फ्रेंच हैकर रॉबर्ट बैपटिस्ट ने कहा कि उन्होंने इस एप में खामी ढूंढी है. हैकर ने ट्वीट किया, ‘’Aarogya Setu एप की सिक्योरिटी में गड़बड़ी मिली है. नौ करोड़ भारतीय यूजर्स की प्राइवेसी को खतरा है. क्या आप प्राइवेट में कॉन्टेक्ट कर सकते हैं?’’

राहुल गांधी ने उठाए थे सवाल

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने आरोग्य सेतु एप पर सवाल उठाए थे. राहुल गांधी ने दावा किया था कि आरोग्य सेतु एप एक जटिल सर्विलांस सिस्टम है. ये एक प्राइवेट ऑपरेटर से आउसोर्स्ड है. इसका कोई संस्थानिक निरीक्षण भी नहीं है. ऐसे में ये एक गंभीर डाटा सिक्योरिटी और प्राइवेसी का मामला खड़ा होता है.