Categories
Other

बुरी खबर-: अभी अभी देश में दौड़ी परेशानी की लहर, दिग्गज उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर…….😭

खबरें

देश के सबसे बड़े उद्योगपति और रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी के घर से कुछ दूरी पर एक सं’दिग्ध कार के मिलने से ह’ड़कं’प मच गया। सिल्वर कलर की स्कॉर्पियो कार से 20 जिलेटिन छड़ें बरा’मद हुई हैं। मौके पर पहुंची पु’लिस और ब’म निरो’धक दस्ते की टीमों ने कार को अपने क’ब्जे में ले लिया है और मा’मले की जां’च शुरू कर दी है।

अ’सेंब’ल नहीं थीं जि’लेटिन छड़ें, पु’लिस ने ली राहत की सांस
पु’लिस के मु’ताबिक, गामदेवी पु’लिस स्टे’शन के अंत’र्गत का’र्मिकल रोड पर एक सं’दिग्ध स्कॉर्पियो कार खड़ी मिली। पु’लिस को इसकी सू’चना मिलते ही मौ’के पर पु’लि’स और ब’म नि’रोधक द’स्ते की टीमें पहुंच गईं। कार की जां’च की गई जिसमें वि’स्फो’ट’क सा’म’ग्री बनाने में इ’स्ते’माल होने वाली जि’ले’टन छ’ड़ें ब’राम’द हुई हैं। हा’लांकि इन्हें असें’बल नहीं किया गया था। मा’मले में आगे की जां’च जारी है।

गृह मंत्री ने कहा, ‘क्रा’इम ब्रां’च कर रहा जां’च, जल्द सा’मने आएगी सच्चाई’
गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा, ‘मुंबई में मुकेश अंबानी के घर से कुछ दूरी पर एक स्कॉर्पियो कार ब’रा’मद हुई है। इस कार में जि’लेटि’न मिला है। इसकी जां’च मुं’बई पु’लिस की क्रा’इम ब्रां’च को सौंप दी गई है। जो भी अस’लिय त है, वह जां’च में जल्द सामने आएगी।’

क्या होता है जि’ले’टि’न, कितना खत’रना’क?
जि’लेटि’न एक ‘वि’स्फोट’क सा’मग्री है। तकनीकी भाषा में इसे ना’इट्रो’से’ल्यूलो’ज या ग’न कॉ’टन भी बोला जाता है। इसे नाइ’ट्रोग्लि’सरीन या नाइ’ट्रोग्ला’यको’ल में तो’ड़कर इसमें लकड़ी की लु’गदी या शो’रा मिलाया जाता है। यह धीरे-धीरे ज’लता है और आ’मतौर पर बिना डे’टो’नेट’र्स के वि’स्फो’ट नहीं कर सकता। जि’लेटि’न का उपयोग गि’ट्टी क्र’शर पर च’ट्टा’नों को तो’ड़ने के लिए किया जाता है। पहाड़ों को तो’ड़’ने के लिए भी वि’स्फो’ट’क के तौ’र पर इसका इस्ते’मा’ल किया जाता है। इसके इ’स्तेमा’ल के दौ’रान काफी सा’वधा’नी रख’नी पड़ती है।