Categories
Other

थल सेना प्रमुख एमएम नरवणे ने पा’क को दिखाया आइना, बोले- कोरोना से लड़ने के बजाए घु’सपै’ठ में ज्यादा दिलचस्पी

थलसेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने कहा है कि पाकिस्तान अब भी भारत में आ’तं’कवा’दि’यों को धकेलने के अपने अदूरदर्शी और तुच्छ एजेंडे पर काम कर रहा है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जब तक पड़ोसी देश आ’तं’कवा’द की अपनी नीति नहीं छोड़ता, हम उचित और सटीक जवाब देना जारी रखेंगे.

हंदवाड़ा में शहीद होने वाले सुरक्षाकर्मियों पर गर्व है- थल सेना प्रमुख

थल सेना प्रमुख ने कहा कि भारत संघर्ष विराम का उल्लंघन और आ’तंकवा’द का समर्थन करने वाले सभी कृत्यों का करारा जवाब देगा. थल सेना में 13 लाख जवान हैं. उन्होंने हंदवाड़ा मुठभेड़ पर कहा कि भारत को अपने उन पांच सुरक्षाकर्मियों पर गर्व है जिन्होंने उत्तर कश्मीर के एक गांव में आ’तंक’वादि’यों से आम नागरिकों की जान बचाते हुए अपना सर्वोच्च ब’लिदा’न किया. उन्होंने कर्नल आशुतोष शर्मा की खास तौर पर सराहना की जिन्होंने उस आपरेशन का नेतृत्व किया.

जनरल नरवणे ने कहा, ‘‘ मैं जोर देना चाहूंगा कि भारतीय सेना संघर्ष विराम का उल्लंघन और आतंकवाद का समर्थन करने वाले सभी कृत्यों का करारा जवाब देगी. क्षेत्र में शांति बहाल करने की जिम्मेदारी पा’किस्’तान पर है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘पा’किस्ता’न जब तक राज्य द्वारा प्रायोजित आ’तंक’वा’द की अपनी नीति नहीं छोड़ता, हम उचित और सटीक जवाब देना जारी रखेंगे.

पाकिस्तान की दिलचस्पी कोरोना से मुकाबला करने में नहीं है- जनरल नरवणे

जनरल नरवणे ने कहा कि जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पास घु’सपै’ठ के हालिया प्रयासों से स्पष्ट होता है कि पाकिस्तान की दिलचस्पी महामारी कोविड-19 से मुकाबला करने में नहीं है और वह अब भी आतंकवादियों को भारत में धकेलने के अपने अदूरदर्शी और तुच्छ एजेंडे पर काम कर रहा है. उन्होंने कहा, “अपनी सरकार और सेना द्वारा पाकिस्तानी नागरिकों को कम प्राथमिकता देना (कोरोना वायरस के) मामलों में तेजी से वृद्धि और पाकिस्तान में चिकित्सा उपकरणों की भारी कमी से स्पष्ट है.”