Categories
Other

जेल में बंद आजम खां की मुसीबतें बढ़ी, एक और केस हुआ दर्ज

रामपुर से सांसद और समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खां की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. आपको बता दें कि अब आजम खां पर एक और मुकदमा दर्ज हो गया है. चालिए आपको बताते है कि आजम खां पर एक और कौन सा मुकादमा दर्ज हुआ है.

जानकारी के मुताबिक रामपुर राजस्व विभाग के निरीक्षक मनोज कुमार की तहरीर पर ये नया मुकदमा दर्ज हुआ है. बता दें कि सांसद आजम खान पर मुकदमा मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी के जरिए सरकारी जमीन पर कब्जा करने के आरोप में दर्ज किया गया है. 

आजम खां पर अजीम नगर थाने में IPC की धारा 447 और सार्वजनिक संपत्ति नुकसान निवारण अधिनियम की धारा 2,3 में मुकदमा दर्ज हुआ है. वहीं जानकारी के लिए आपको बता दें कि आजम खां बेटे अब्दुल्ला आजम के दो जन्म प्रमाण पत्र और दो पासपोर्ट मामले में वो सीतापुर जेल में बंद हैं. साथ में उनकी पत्नी तजीन फामिता भी बंद हैं. इस मामले में रामपुर की कोर्ट ने आजम खां के परिवार की जमानत रद्द करके उन्हें जेल भेज दिया था.

इस बीच खबर ये भी है कि यूपी सरकार आजम खां के ड्रीम प्रोजेक्ट मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी को भी अपने कब्जे में लेने वाली है. वहीं जौहर यूनिवर्सिटी को रामपुर जिला प्रशासन ने अपने नियंत्रण में लेने का प्रस्ताव भेजा है. आरोप सामने आया है कि जौहर यूनिवर्सिटी में सरकारी पैसा लगा है. इस यूनिवर्सिटी के आजम खां कुलाधिपति हैं और उनके बेटे अब्दुल्ला और पत्नी तजीन ट्रस्ट के मेंबर्स हैं. साथ ही बता दें आजम खां इस ट्रस्ट के अध्यक्ष हैं.

ADM रामपुर सिटी के अनुसार 9 सदस्य समिति ने अपनी रिपोर्ट में ये बात का बताई है कि यूनिवर्सिटी की कुल 78 हेक्टेयर जमीन में से 36 हेक्टेयर से ज्यादा जमीन सरकारी या सरकार से जुड़ी जमीनें हैं. इस यूनिवर्सिटी में जो पैसा लगा हुआ है उसमें 163 करोड़ रुपये में से 88 करोड़ से ज्यादा सरकारी पैसा इस्तेमाल हुआ है. आपको बता दें कि जब अखिलेश यादव मुख्यमंत्री थे तो जौहर यूनिवर्सिटी में जमकर निर्माण कार्य हुआ था. अब इस यूनिवर्सिटी की बाउंड्री को सरकारी जमीन पर बने होने के कारण तोड़ दिया गया है।