Categories
Other

BJP के वरिष्ठ नेता ने तोड़ा दम, पार्टी में छाई शोक की लहर

ऐसा लग रहा है कि ये साल राजनीतिक गलियारे के लिए कुछ खास नहीं दिखाई दे रहा है क्योंकि इस साल हर दिन किसी न किसी नेता के निधन की ख़बरें सामने आ रही है. देश में जब भी किसी नेता का निधन होता है तो उससे सिर्फ उनका परिवार नहीं बल्कि बुरे देश को ये खबर बुरी तरह प्रभावित करती है. आज फिर भाजपा के वरिष्ठ नेता रवि माहेश्वरी का निधन हो गया. आपको बता दें कि वो 68 साल की थी. उनके आकस्मिक निधन से पूरे परिवार में शोक की लहर दौड़ गई है. भाजपा नेता के निधन की खबर सुनकर उनके निवास जयसिंहपुरा स्थित नवनीत कुंज में संघ पदाधिकारियों और अन्य लोगों का तांता लग गया.

आपको बता दें कि रवि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के सखा व पूर्व पालिकाध्यक्ष बांकेबिहारी के बेटे थे. बता दें कि भाजपा के वरिष्ठ नेता रवि माहेश्वरी चार दिन पहले घर में गिर गए थ. चोट लगने की वजह से बीते मंगलवार की शाम अचानक उनकी तबियत ज्यादा बिगड़ जाने पर हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. जिसके बाद बुधवार की सुबह उनके निधन की खबर से शोक की लहर दौड़ गई. भाजपा के नगर अध्यक्ष, जिला उपाध्यक्ष और विभिन्न पदों पर रहने वाले रवि माहेश्वरी बाल्यकाल में ही संघ से जुड़ गए।

आपको बता दें कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और वरिष्ठ भाजपा नेताओं का रवि माहेश्वरी के घर हमेशा आना जाना रहता था. बुधवार को रवि के बड़े बेटे आशीष माहेश्वरी ने मुखाग्नि दी. वहीं भाजपा महानगर अध्यक्ष विनोद अग्रवाल ने उनके पार्थिव शरीर पर भाजपा का झंडा ओढ़ाया।


शवयात्रा में जीएलए विवि के कुलाधिपति नारायणदास अग्रवाल, ऊर्जामंत्री प्रतिनिधि सूर्यकांत शर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष मधु शर्मा, सतीश ब्रजवासी, प्रमोद गर्ग कसेरे, पूर्व विधायक श्याम अहेरिया, समाजसेवी पवन चतुर्वेदी, महामंत्री प्रदीप गोस्वामी, हिंदूवादी नेता गोपेश्वरनाथ चतुर्वेदी, राम चौधरी, गौरशरण सराफ, सत्यपाल सिंह, नवीन मित्तल, मदन श्रीवास्तव, मुकेश खंडेलवाल आदि सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद रहे।