Categories
News

BREAKING: कल है भारत बंद, स’रकार और किसानों की ये है तैयारी, जान लें वरना…..

खबरें

कृषि क्षेत्र से जुड़े नए का’नूनों को वा’पस लेने के लिए स’रका’र पर दबा’व बनाने की खा’तिर मंगलवार (8 दिसंबर) को भा’रत बंद रहेगा। दे’शभ’र के विभिन्‍न कि’सान संग’ठनों ने राष्‍ट्र’व्‍या’पी बंद बुलाया है। कां’ग्रेस, ले’फ्ट समेत अ’धिकतर विप’क्षी पार्टियों ने भारत बंद को स’मर्थन देने का ऐ’लान किया है। ये दल मंगलवार को देश के अलग-अलग हिस्‍सों में केंद्र स’रका’र के खि’ला’फ प्रदर्शन करेंगे। इसके अलावा ट्रेड, इंडस्‍ट्रीज और बैंकिंग से जुड़ी कई यू’निय’नों ने भी किसान आंदोलन और ‘भारत बंद’ को सपोर्ट करने की बात कही है। यानी राज’नीति’क और संग’ठन के स्‍तर पर भारत बंद को स’फल बनाने की पूरी तैयारी है। अलग-अलग राज्‍यों में ‘भारत बं’द’ का अलग-अलग असर देखने को मिल सक’ता है क्‍योंकि कुछ जगहों पर स्‍थानीय स्‍तर पर बड़े प्रदर्शन की योज’ना है। आं’दो’लन का केंद्र मुख्‍य रूप से दि’ल्‍ली-ए’नसी’आ’र ही रहेगा।

11-3 बजे तक बंद, इन से’वाओं को अ’नुमति

भा’रतीय कि’सान यू’नियन के प्रमुख राकेश टि’कैत ने बताया कि भारत बंद के दौ’रान किन-किन सेवाओं की अ’नुम’ति रहेगी। उन्होंने कहा कि हम सुबह 11 बजे से शाम 3 बजे तक बंद रखेंगे, लेकिन इस दौ’रान किसी को परे’शान नहीं किया जाएगा। टि’कैत ने कहा, ‘हम आम लोगों के लिए स’मस्या खड़ा नहीं करना चाहते हैं। इसलिए, हम बंद 11 बजे शुरू करेंगे ताकि वो ऑ’फिस पहुंच जाएं। द’फ्तरों में 3 बजे ड्यू’टी आवर ख’त्म हो जाएगा। ऐं’बुलें’स को रोका नहीं जाएगा और शादियों में भी बा’धा नहीं पहुंचाई जाएगी। लोग शा’दी का कार्ड दि’खाकर जा सकेंगे।’

पूरे देश से किसान आं’दोलन को मिल रहा स’मर्थन

कि’सान आं’दोलन की शु’रुआत में पंजाब और हरियाणा के किसान शामिल थे। बाद में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसान नेताओं ने हिस्सा लिया, लेकिन अब इस आंदोलन में संपूर्ण उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्यप्रदेश, कर्नाटक, तेलंगाना, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल समेत कई राज्यों के कि’सान जुड़ गए हैं।

दिल्‍ली में दिखेगा ‘भारत बं’द’ का सबसे ज्‍यादा असर

8 दिसंबर को भारत बंद के दौ’रान दुकानें एवं कारोबार बं’द रहेंगे। एं’बुलेंस एवं आ’पात कार्य को बंद से छूट दी गयी है। किसानों ने दि’ल्‍ली के बॉ’र्डर्स को ब्‍लॉ’क कर रखा है। पंजाब, हरियाणा समेत देशभर से हजारों किसान यहां पहुंचे हैं। दिल्‍ली को उत्‍तर प्रदेश, हरियाणा समेत उत्‍तर भारत से जोड़ने वाले अधिकतर रास्‍ते बंद हैं। मंगलवार को हाला’त और बि’गड़ सकते हैं जब खुले रास्‍तों पर भी किसान इकट्ठा होने की तैयारी कर रहे हैं। शहर के कुछ ऑटो और टैक्सी संघों ने केन्द्र के नए कृषि का’नूनों के वि’रोध में आठ दिसंबर को बुलाए गए ‘भारत बंद’ के समर्थन का फै’सला किया है।

दिल्ली की कई सीमाएं सी’ल कर दी गई हैं। दिल्ली ट्रै’फिक पु’लिस द्वारा सो’मवार की सुबह ट्वि’टर पर दी गई जानकारी के अनुसार, सिं’घु, औ’चंडी, पि’याओ, म’नियारी, मंगे’श बॉ’र्डर बंद है। इसके अलावा टि’करी और झ”रोडा बॉर्डर भी बंद है। उधर, उत्तर प्रदेश से दि’ल्ली में प्रवेश करने वाले मुख्य पथ, राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-24 स्थित गा’जीपुर बॉर्डर भी किसानों के आंदोलन के चलते बंद है। इसके अलावा नोएडा लिंक रोड स्थित चिल्ला बॉर्डर भी बंद है। किसान आं’दोलन के चलते सिंघु और टि’करी बॉ’र्डर के साथ-साथ गा”जीपुर बॉ’र्डर पहले से ही बंद था, लेकिन अब कई और सी’माएं सी’ल कर दी गई हैं।

यूपी में अ’लर्ट

लखनऊ में उत्तर प्रदेश पु’लिस समाजवादी पार्टी की गति’विधियों पर नज़र रख रही है. सपा प्रमु’ख अ’खिलेश यादव ने रविवार को ही कहा था कि ‘वे किसानों की माँ’गों को वा’जिब मानते हैं और वे किसानों द्वारा बुलाए गए भा’रत बंद का स’मर्थन करेंगे.’ पर सोमवार सुबह यूपी पु’लि’स ने उनके घर के बाहर डेरा डा’ल दिया.