Categories
Other

सीएम केजरीवाल ने खोजा कोरोना का तोड़, प्लाज्मा थेरैपी के ट्रायल को लेकर कही ये बड़ी बात

कोरोना वायरस के संकट से जूझ रही दिल्ली के लिए एक अच्छी खबर आई है. जानकारी के लिए आपको बता दें कि प्लाज्मा थेरेपी पहले स्टेज में कारगर साबित हुई है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना के चार मरीजों को मंगलवार को प्लाज्मा दिया गया था. जिनमें से दो को जल्द छुट्टी मिल सकती है. बाकी दो मरीजों की सेहत में सुधार हो रहा है. उम्मीद है कि ये लोग जल्द ही रिकवर होंगे.

सीएम अरविंद केजरीवाल ने ये भी कहा कि प्लाज्मा थेरेपी के इस्तेमाल की परमिशन केंद्र सरकार से मिली थी. केंद्र सरकार ने एलएनजेपी के सीरियस मरीजों के ऊपर ही प्लाज्मा थेरेपी ट्राई करने के लिए कहा था और नतीजों की डिटेल मांगी थी. अगर नतीजे ठीक आए तो वो बाकी परमिशन देगी. अगले दो-तीन दिन और हम ट्रायल करेंगे.

सीएम केजरीवाल ने आगे बताया कि एक बार जब ट्रायल पूरा हो जाएगा, उसके बाद हम पूरी दिल्ली के सीरियस कोरोना मरीजों को प्लाज्मा थेरेपी देने के लिए केंद्र से परमिशन मांगेंगे. मुझे उम्मीद है कि इजाजत जल्द मिल जाएगी. इसके बाद दिल्ली के सभी अस्पतालों में कोरोना के सीरियस मरीजों को प्लाज्मा थेरेपी दी जाएगी.

प्लाज्मा थेरेपी में डोनर का रोल अहम

दिल्ली वासियों से बात करते हुए सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि यह अभी शुरुआती नतीजे हैं, हम यह न समझें कि कोरोना का इलाज मिल गया. यह नतीजे बहुत उत्साहवर्धक हैं. उम्मीद की किरण नजर आ रही है. इसमें सबसे अहम रोल डोनर का है, जो कोरोना से ठीक हो गया और आकर अपना प्लाज्मा डोनेट करता है.

लोगों से प्लाज्मा डोनेट करने की अपील

लोगों के अपील करते हुए सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कई लोगों ने डेंगू के लिए ब्लड दिया होगा. ठीक उसी तरह आपके ब्लड में से प्लाज्मा निकाल लेंगे. डोनर को चिंता करने की जरूरत नहीं है. जो लोग ठीक होकर गए हैं, उन्हें सरकार की ओर से फोन किया जाएगा और उनका प्लाज्मा लिया जाएगा.