Categories
Other

भारत में कोरोना वायरस से मृत्यु दर अमेरिका, चीन और फ्रांस से भी कई ज्यादा

कोरोना के कहर से दुनियाभर में करीब 16 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं. आपको बता दें कि सबसे ज्यादा प्रभावित चीन, इटली और स्पेन जैसे देश हैं. वहीं बात करें भारत की तो यहां कोरोना वायरस के मामलों दिन पर दिन बढ़ते ही जा रहे है. आपको बता दें कि अब तक मरीजों की संख्या 8000 के पार पहुंच चुकी है. संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र से सामने आ रहे हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अब तक देश में इसके 8356 केस सामने आ चुके हैं. वहीं 273 लोगों की इससे मौत हो चुकी है. इसमें से 715 लोगों का सफलतापूर्वक इलाज किया जा चुका है. इस तरह से देश में इस वक्त कोरोना के एक्टिव मामलों की संख्या 7367 है.

अगर कोरोना के 7000 मामलों को आधार मानकर दुनिया के दूसरे देशों से इसकी तुलना की जाए तो पता चलता है कि भारत में कोरोना मरीजों की मृत्यु दर चीन, अमेरिका और फ्रांस से बहुत ज्यादा है. जबकि जर्मनी और दक्षिण कोरिया ने कोरोना मरीजों के इलाज में बेहतरीन कामयाबी हासिल की है. यहां 7000 मामलों पर मृत्यु दर भारत के मुकाबले बहुत कम है. हालांकि इटली, स्पेन, ब्रिटेन स्वीडन, नीदरलैंड, ब्राजील में 7000 कोरोना संक्रमण पर मौत का आंकड़ा भारत से बहुत ज्यादा है.

7000 कोरोना संक्रमण के आधार पर जिन देशों में भारत से कम मौतें हुई हैं, वे देश हैं जर्मनी, दक्षिण कोरिया, चीन, फ्रांस और अमेरिका. भारत में जब कोरोना संक्रमण का आंकड़ा 7000 था तो मौतों की संख्या 249 थी, जबकि जब जर्मनी में 7000 केस थे तो उस वक्त वहां मात्र 13 लोगों की मौत हुई थी, दक्षिण कोरिया में ये आंकड़ा 54 था, अमेरिका में तब मात्र 100 लोगों की मौत हुई थी, चीन में 170 लोगों ने जान गंवाई थी. फ्रांस में 7000 केस पर मौत का आंकड़ा 175 था और ईरान में ये डाटा 237 था

भारत 10 ऐसे देशों में जहां मौत की दर ज्यादा

विश्व स्वास्थ्य संगठन के स्रोत से लिए गए आंकड़ों के आधार पर तैयार आंकड़ों का विश्लेषण कहता है कि 7000 केस पर 23 देशों की सूची में मृत्यु दर के मामले में भारत 10 ऐसे देशों में है जहां मृत्यु दर सबसे ज्यादा है. जिन देशों में भारत से मृत्यु दर ज्यादा है वे देश हैं स्पेन जहां 7000 कोरोना संक्रमण पर मौत का आंकड़ा 288 था, जबकि ब्राजील में ये आंकड़ा 299 था. इटली में 366 लोगों की मौत हो चुकी थी.

7000 कोरोना संक्रमित मामलों में ब्रिटेन में 422 लोगों की मौत हो चुकी थी, नीदरलैंड में 434 लोगों की मौत हो चुकी थी, जबकि स्वीडन में 477 लोगों की मौत हुई थी.यानी जिस कोरोना वायरस ने चीन के बाद अमेरिका, ईरान और फ्रांस जैसे देशों में तबाही मचाई है वहां भी 7 हजार केस तक हालात भारत से कहीं ज्यादा बेहतर थे.