Categories
Other

ये राज्य बना कोरोना का नया केंद्र, एक दिन में 4636 केस आए सामने

देशभर में फैला कोरोना अब भारत में भी आपने पैर पसार चुका है. बता दें कि इटली में कोरोना वायरस से अब तक 233 लोगों की मौत हो गई है, वहीं बात करें संक्रमित मरीजों की संख्या की तो वो 1,247 के एक दिन के रिकॉर्ड से बढ़कर 5,883 हो गई है. आपको बता दें कि इटली में चीन को छोड़कर सबसे अधिक मौतें हुई है. बताते चलें चीन और दक्षिण कोरिया के बाद तीसरा सबसे अधिक संक्रमण इटली की ही दर्ज की गई है.

इस सब के चलते इतालवी सरकार ने बताया है कि मिलान के आसपास पूरे लोम्बार्डी क्षेत्र को क्वैरनटीन करने की योजना बनाई जा रही है ताकि वेनिस और पर्मा व रिमिनी के उत्तरी शहरों के आसपास के क्षेत्रों में कोरोना वायरस को फैलने से रोका जा सके.

इटली के एक अखबार की रिपोर्ट में कहा गया है कि 3 अप्रैल तक इन क्षेत्रों में और बाहर लोगों की आवाजाही को गंभीर रूप से प्रतिबंधित किया जाएगा. आपको बता दें कि मिलान इटली की वित्तीय राजधानी है और वहां की आबादी 14 लाख से कम है. वहीं संपूर्ण लोम्बार्डी क्षेत्र 1 करोड़ लोगों का घर है.

आपको बता दें कि वेनिस के आसपास के वेनेटो क्षेत्र के साथ-साथ एमिलिया-रोमाग्ना के पर्मा और रिमिनी में भी ऐसा आदेश जारी किया जा सकता है. बताते चलें कि इन तीन शहरों में 540,000 लोगों की आबादी है. साथ ही अभी ये साफ नहीं हो पाया है कि लोगों की आवाजाही पर रोक का आदेश कब जारी किया जाएगा.

जानकारी के मुताबिक पिछले साल चीन में फैले कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा प्रभाव इटली में हुआ है और इसमें कई लोगों की मौत हो चुकी है. आपको बता दें कि संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. अब तक 233 लोगों की मौत हुई है जबकि संक्रमित मरीजों की संख्या 5,883 तक पहुंच गई है।