Categories
News

दु:खद -: अभी अभी बीजेपी में दौड़ी शोक की लहर, नही रहे पूर्व मंत्री……😭 पूर्व सीएम कल्याण सिंह ने दी….

खबरें

सलोन विधानसभा सीट से भाजपा विधायक व पूर्व मंत्री दल बहादुर कोरी का शुक्रवार सुबह कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से नि’ध’न हो गया।लखनऊ के अपोलो अस्पताल में सुबह 6:30 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली उनके निध’न की खबर फैलते ही पूरे जिले में शोक की लहर दौड़ गई।

सलोन तहसील क्षेत्र के पद्मनपुर बिजौली गांव के रहने वाल 64 साल के दल बहादुर कोरी पहली बार भाजपा के टिकट पर 1993 में जिले की सलोन सुरक्षित विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए थे। बेहद सामान्य परिवार के दल बहादुर कोरी 1996 में भी दूसरी बार भाजपा के टिकट पर ही विधायक चुने गए कल्याण सिंह मंत्रिमंडल में उन्हें 1998 में समाज कल्याण राज्य मंत्री बनाया गया। मंत्री बनने के बाद भी वह सामान्य ही बने रहे और आम जनता से उनका जुड़ाव जीवन पर्यंत साधारण व्यक्ति की तरह ही बना रहा।

2002 में भाजपा और 2007 में बसपा के टिकट प चुनाव लड़े दल बहादुर कोरी दोनों ही बार चुनाव हार गए। वर्ष 2010 में उन्होंने कांग्रेस ज्वाइन कर ली।गांधी परिवार ने उन्हें पार्टी का प्रदेश महामंत्री बनाया। लगभग 2 साल कांग्रेस में रहने के बाद वह फिर भाजपा में लौट आए। वर्ष 2012 में भाजपा ने उन्हें मैदान में उतारा लेकिन जीत हाथ नहीं लगी। वर्ष 2017 मैं भाजपा ने उन्हें फिर अपना प्रत्याशी बनाया इस चुनाव में दल बहादुर कोरी मैदान मा’रने में सफल रहे।

विधायकी के तीसरे कार्यकाल के बाद उनका स्वास्थ्य खराब रहने लगा। इसी कार्यकाल में उन्हें दो बार दिल का दौरा भी पड़ा और एक बार रीड की हड्डी में भी प्रॉब्लम आई बीपी और शुगर के भी वह मरीज हो गए थे। पिछले महीने की 8 तारीख को उनका स्वास्थ्य खराब हुआ उन्हें जिला अस्पताल से पीजीआई रेफर कर दिया गया कुछ दिन वहां इलाज के बाद अपोलो में भर्ती हो गए इसी बीमारी के दौरान वह कोरोना संक्र’मित हुए लेकिन 8 दिन पहले उनकी नेगेटिव रिपोर्ट आ गई थी लेकिन लगातार वह अस्पताल में भर्ती रहे। उनके निध’न की खबर से पूरे जिले में शो’क की लहर दौड़ गई भाजपा के पूर्व अध्यक्ष अजय त्रिपाठी समेत तमाम नेताओं ने गहरा शोक व्यक्त किया है