Categories
Other

दिल्ली में 26 से फिर बढ़ेगी ठंड, तेज बारिश के साथ होगी बर्फबारी

दिल्ली का मौसम इस बार पूरे रंग में है. धूप खिल रही है, लेकिन बर्फीली हवाओं की वजह से ठंड कांपने पर मजबूर भी कर रही है. हालांकि दिन का तापमान जरूर बढ़ा है. वहीं इन हवाओं की वजह से जनवरी में पहली बार प्रदूषण सामान्य स्तर पर पहुंचा गया है.



आपको बता दें कि सीपीसीबी के सेंट्रल कंट्रोल रूम डेटा से पता चलता है कि शुक्रवार शाम 7 बजे दिल्ली एनसीआर में PM 2.5 था जिससे 65.7 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रहा था. वहीं ‘इमरजेंसी’ बेंचमार्क 300 और 500 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर है जबकि सुरक्षित मानक 60 से 100 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर माना जाता है. ‘सफर’ की रिपोर्ट के मुताबिक आपको बता दें कि अगले 24 घंटों तक तेज हवाएं चलती रहने से प्रदूषण कम ही रहेगा।

वहीं 0-50 के बीच AQI अच्छी, 51-100 संतोषजनक, 101-200 मॉडरेट, 201-300 खराब, 301 से 400 बहुत खराब और 401 से 500 को गंभीर कैटिगरी में गिना जाता है. मुताबिक के मुताबिक आपको बता दें कि राजधानी का अधिकतम तापमान शुक्रवार को 21.1 डिग्री रहा था. वहीं न्यूनतम तापमान महज 8.2 डिग्री का था. वहीं अब न्यूनतम तापमान में और कमी आने की संभावना है. शनिवार को न्यूनतम तापमान महज 6 डिग्री पर सिमट सकता है. राजधानी में बीते गुरुवार से ही ठंडी तेज हवाएं चल रही है. पहाड़ों की बर्फ से टकराकर हवाएं सीधे दिल्ली पहुंच रही हैं. आपको बता दें कि आज भी हवाएं 20 से 25 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से बह रही थी.

स्काईमेट वेदर के अनुसार, वर्तमान में पश्चिमी विक्षोभ अब दूर हो चुका है और उत्तर-पश्चिमी इलाकों के मद्देनजर उत्तरी मैदानी इलाकों में रात का तापमान गिर गया है. इस बीच, एक और पश्चिमी विक्षोभ से शनिवार शाम तक जम्मू और कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, लद्दाख और उत्तराखंड में बारिश और बर्फबारी हो सकती है. साथ ही संभावना है कि 27 जनवरी की रात पश्चिमी विक्षोभ पश्चिमी हिमालय को प्रभावित करेगा, जिसके चलते 26 से 28 जनवरी को दिल्ली समेत उत्तर भारत में बारिश हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.