Categories
Other

दिल्ली में हिं’सा को काबू में करने के लिए स्पेशल क’मिश्नर बने एसएन श्रीवास्तव

दिल्ली में हो रही हिं’सा को आज 3 दिन हो गए है. बता दें कि अब तक इस हिं’सा में 13 लोगों की मौ’त हो गई है. जबकि 200 लोग ज’ख्मी है. हालातों को देखते हुए सीआरपीएफ के तेज-तर्रार अफसर और अभी वर्तमान में डीजी ट्रेनिंग एसएन श्रीवास्तव को दिल्ली का स्पेशल पुलिस कमिश्नर (लॉ ऐंड ऑर्डर) बनाया गया है. आपको बता दें कि दो साल पहले तक एसएन श्रीवास्तव जम्मू-कश्मीर के स्पेशल डीजी रहे है. उन्हें घाटी में ऑपरेशन ऑल आउट के दौरान आर्मी के साथ काम करने के मौका मिला था.

बताते चलें कि उनका कार्यकाल 30 जून 2021 तक है और जानकारी के मुताबिक अब ये भी चर्चा तेज है कि आने वाले समय में उन्हें दिल्ली का पुलिस कमिश्नर भी बनाया जा सकता है। आपको बता दें कि दिल्ली पुलिस की ऐंटी टेरर सेल के विशेष आयुक्त रहे श्रीवास्तव को पूर्व में सीआरपीएफ के वेस्टर्न जोन का एडीजी बनाया गया था. इस सब में श्रीवास्तव के नेतृत्व में ही सीआरपीएफ और भारतीय सेना ने जम्मू-क’श्मीर में कई ऐंटी टेरर ऑपरेशन चलाए गए थे. बता दें कि इनमें ऑपरेशन ऑल आउट जैसे बड़े ऑपरेशन भी शामिल थे.



घाटी में हिज्बुल के अंत के लिए मशहूर
जानकारी के मुताबिक 1985 बैच के AGMUT कैडर के आईपीएस अधिकारी एसएन श्रीवास्तव तेज-तर्रार अफसरों में गिने जाते हैं. अपने इस रवैये के लिए मशहूर श्रीवास्तव को पूर्व में कश्मीर में आ’तं’क के खा’त्मे का काम सौंपा गया था. उन्होंने 2017 में दक्षिण कश्मीर में सीआरपीएफ ने तमाम ऐंटी टेरर ऑपरेशंस को अंजाम दिया. बता दें कि इनमें ऑपरेशन ऑल आउट के साथ ही कई ऐसे एन’काउं’टर भी शामिल थे, जिनमें हि’ज्बुल के कई टॉप कमांडर्स को खत्म किया गया था.



बड़ा फैसला माना जा रहा श्रीवास्‍तव की नियुक्ति

आपको बता दें कि एसएन श्रीवास्तव की नियुक्ति को दिल्ली के हालात को देखते हुए एक बड़े फैसले के रूप में देखा जा रहा है. उन्हें दिल्ली का स्पेशल कमिश्नर ऐसे वक्त में बनाया गया है, जबकि हिं’सा की स्थितियों के बीच दिल्ली में 200 से अधिक लोग घायल हैं और 13 लोगों की जान भी जा चुकी है।