Categories
धार्मिक

हर बाधा होगी दूर,पति का चमकेगा भाग्य अगर पत्नी करे ये काम..

धार्मिक

कभी- कभी बहुत कुछ करने के बाद भी सफलता(Success) हाथ नहीं लगती है। ऐसा यदि किसी व्यक्ति के कुंडली (Kundali) में दोष होता हैं तो उसे अपने जीवन में कभी भी तरक्की नहीं मिलती हैं, भले ही वो चाहे जितनी मेहनत कर लें, लेकिन उसे सफलता नहीं मिलती हैं। इसलिए भाग्य का साथ पाने के लिए ईश्वर की आराधना करनी पड़ती हैं ताकि भाग्य का साथ मिले, इसके लिए पत्नियाँ भी अपने पति( Husband) के तरक्की के लिए कुछ उपाय कर सकती हैं क्योंकि पत्नियाँ अपने पति की अर्धांगिनी होती हैं और घर की लक्ष्मी होती हैं।ये भगवान शिव ने खुद मां पार्वती को बताया था। इसलिए धर्मशास्त्रों के आधार पर हर पत्नी को अपने पति के भाग्य की वृद्धि औक उन्नति के लिए कुछ धार्मिक उपाय करने चाहिए। जो है ये….

इस तरह करें काम की पति का बढ़े भाग्य

सुबह के समय पति-पत्नी दोनों ही तुलसी के पेड़ की पूजा करें।यदि पुरुष तुलसी की पूजा ना कर सके तो सिर्फ महिलाएं ही तुलसी की पूजा कर सकती हैं। रोज सुबह महिलाएं स्नान करके तुलसी के पेड़ को पानी दे और तुलसी के पेड़ के सामने खड़े होकर प्रार्थना करें और अपने पति की परेशानियों को बोले। इसके बाद शाम की पूजा में महिलाएं देशी घी के दिये जलाए और घंटी जरूर बजाएँ। यदि देशी घी संभव ना हो तो सरसों के तेल के दिये जलाए। लेकिन शाम के समय घी के दिये जरूर जलाए क्योंकि इससे आपके घर में देवी माँ लक्ष्मी का आगमन होता हैं और आपके पति तरक्की करते हैं।

रहेंगी सदा सुहागन

हर महिला को चाहिए कि सुबह स्नान करके माता पार्वती और गौरी की पूजा अवश्य करें और गौरी माँ को सिंदूर दान करें। ऐसा करने से महिलाएं सदा सुहागन रहती हैं और उनकी सभी इच्छाएं पूरी होती हैं और वो खुश रहेंगी तो आपके घर में सुख-शांति रहेगी।

समय-समय पर किन्नरों को अवश्य दान करे क्योंकि किन्नरों के आशीर्वाद से आप अपने जीवन में हमेशा तरक्की करेंगे।


शनिवार को जरूर करें ये काम

पत्नियाँ शनिवार के दिन सरसों के तेल में मीठे भजिए बनाएँ, मीठे भजिए आप मैदे से बना सकते हैं और इसे किसी गरीब को खिला दें। इससे शनिदेव से संबन्धित सभी प्रकोप दूर होंगे।

शनिवार के दिन एक नारियल का खोपड़ा ले और इसके अंदर चीनी भर दे और फिर सूर्यास्त के समय इसे पीपल के नीचे रख दे और फिर पीपल को प्रणाम करके वापस अपने घर चले आए। ऐसा करने से पति-पत्नी के संबंध सुधरते होते हैं क्योंकि पत्नियाँ घर की लक्ष्मी होती हैं।