Categories
Other

मनमोहन सिंह ने दिया बड़ा बयान “कहा सलाह मान लेते तो”…

सन् 1984 में हुए सिख सुरक्षाकर्मियों ने प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को मार डाला था. जिसके बाद देशभर में सिख विरोधी दंगे भड़क उठे थे जिनमें करीब 3,000 सिखों की जान चली गई.कहा जाता है कि 3000 में से 2700 सिखों की हत्या दिल्ली में ही हुई थी. वहीं स्वतंत्र स्रोतों की मौतों की संख्या 8,000-17,000 थी. इसी के संबंध में पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने एक बड़ा बयान दिया है. आइए जानते है क्या कहना है डॉ मनमोहन सिंह का इस बारे में

पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने कहा कि अगर तत्कालीन गृह मंत्री पीवी नरसिम्हा राव ने इंद्र कुमार गुजराल की सलाह मानी होती तो दिल्ली में सिख नरसंहार से बचा जा सकता था बाते बुधवार मतलब कल दिल्‍ली में पूर्व प्रधानमंत्री गुजराल की 100वीं जयंती पर आयोजित समारोह में मनमोहन सिंह शामिल हुए थे.

पूर्व पीएम आगे कहा कि, ‘दिल्‍ली में जब 84 के सिख दंगे हो रहे थे, गुजराल जी उस समय के गृह मंत्री नरसिम्हा राव के पास गए थे. राव से कहा कि स्थिति इतनी गंभीर है कि सरकार के लिए जल्द से जल्द सेना को बुलाना आवश्यक है. अगर राव गुजराल की सलाह मानकर आवश्‍यक कार्रवाई करते तो तो शायद 1984 के नरसंहार से बचा जा सकता था।’

4 replies on “मनमोहन सिंह ने दिया बड़ा बयान “कहा सलाह मान लेते तो”…”

Leave a Reply

Your email address will not be published.