Categories
Other

दो’षि’यों के लिए ति’हाड़ से आया फर’मान, कहा – आखिरी बार परिवार से…

ति’हाड़ जेल प्रशासन ने नि’र्भ’या केस के 4 दो’षि’यों को लिखित तौर पर सूचना दी है कि उन्हें जब भी अपने परिवार से अंतिम बार मुलाकात करनी हो, वे जे’ल प्र’शा’सन को बता सकते है. आपको बता दें कि इस नए आदेश में ये बात का भी जिक्र हुआ है कि दो’षी मुकेश और पवन अंतिम मुलाकात कर चुके हैं वहीं अक्षय और विनय से भी परिजनों से अंतिम मुलाकात के लिए बोल दिया गया है. वहीं बात करें साप्ताहिक मुलाकात की तो वो चारों की अभी जारी है.

आपको बता दें कि अगर नि’र्भ’या के दो’षि’यों को होने वाली फां’सी नहीं टली तो दो’षि’यों की ये मुलाकात अपने परिवार के साथ आखिरी बात मुलाकात होगी. जानकारी के मुताबिक नि’र्भ’या के चारों दो’षि’यों को 3 मार्च को सुबह छह बजे फांसी दी जाएगी. बताते चलें कि पटियाला हाउस कोर्ट ने 17 फरवरी को एक नया डे’थ वा’रंट जारी किए जाने की मांग वाली याचिका पर यह फैसला दिया था. नि’र्भ’या के दो’षि’यों की फां’सी लगातार कानूनी-दांवपेच की वजह से टल जा रही है.

जानकारी के मुताबिक नि’र्भ’या केस के 4 दो’षि’यों मुकेश मुकेश कुमार सिंह, विनय कुमार शर्मा, अक्षय और पवन गुप्ता को फांसी होनी है. चार में से तीन दो’षी मुकेश, विनय और अक्षय ने फां’सी के बचने के लिए राष्ट्रपति के सामने दया याचिका भी लगा चुके हैं, लेकिन वो खारिज हो चुकी हैं. ऐसे में इन तीनों की फां’सी का रास्ता बिल्कुल साफ हो गया है, इनके तीनों के पास अब कोई विकल्प नहीं बचा है. जबकि चौथे दो’षी पवन गुप्ता ने अभी तक न तो सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेविट पिटीशन लगाई है और न ही राष्ट्रपति से दया की गुहार की है.

3 मार्च को टल सकती है फां’सी

पवन गुप्ता अगर अपने विकल्पों का इस्तेमाल करता है तो 3 मार्च की फां’सी भी टल सकती है. अगर पवन की तरफ से फां’सी के दिन से ठीक पहले यानी 29 फरवरी के बाद क्यूरेटिव पिटिशन दाखिल की जाती है तो सुनवाई में समय लगने के कारण 3 मार्च की सुबह फां’सी टल सकती है. इसके अलावा पवन के पास एक विकल्प ये भी है कि वो राष्ट्रपति के पास दया याचिका लगाए और जब तक राष्ट्रपति की ओर से इस संबंध में कोई फैसला आए तो उस कारण भी देरी हो सकती है।