Categories
Other

महाराष्ट्र: फ्लोर टेस्ट में उद्धव सरकार पास, नहीं मिला इस पार्टी ने साथ

महाराष्ट्र विधानसभा में हुए फ्लोर टेस्ट में शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन ने आसानी से बहुमत साबित कर दिया है. उद्धव सरकार को बहुमत के लिए 145 वोट चाहिए थे, जो उसने आसानी से हासिल कर लिए. शिवसेना के पक्ष में कुल 169 वोट पड़े. फ्लोर टेस्ट के समय सबकी नजरें टिकी थीं कि बहुमत परीक्षण में एमएनएस किसका साथ देगी. आइए बताते है कि क्या हुआ फ्लोर टेस्ट में.

फ्लोर टेस्ट के दौरान दिलचस्प बात यह रही है कि अभी तक राज्य की सियासी उठापटक से दूर रही राज ठाकरे की पार्टी एमएनएस ने ऐन मौके पर कोई पक्ष नहीं लिया और शिवसेना के खिलाफ वोट नहीं दिया. विधानसभा में एमएनएस का एक विधायक है. गौरतलब है कि राज उद्धव के शपथग्रहण समारोह में भी शामिल हुए थे। जब तमाम तल्खियां भुलाकर राज ठाकरे राजनीतिक मंच का हिस्सा बने तो उनका जोरदार स्वागत हुआ था। इसके बाद से सबकी नजरें इस बात पर टिकी थीं कि एमएनएस का वोट किसको जाएगा.

एमएनएस के अलावा एमआईएम के 2 और सीपीआईएम के एक विधायक ने भी किसी के पक्ष में वोट नहीं दिया। इससे पहले बीजेपी विधायकों के हंगामे के साथ शुरू हुआ सत्र दोपहर बाद पूरा हुआ। महाविकास अघाड़ी के नेताओं ने पहले ही दावा किया था कि उनके पास कई छोटे दलों का भी समर्थन था। ऐसे में वह आसानी से बहुमत हासिल कर लेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.