Categories
Other

महाराष्ट्र में सरकार बनाने का फार्मूला तय ढाई-ढाई साल रहेगा इनका सीएम-सूत्र

मुंबई में सरकार बनाने को लेकर लगातार कोशिश जारी हैं लेकिन कोई भी पार्टी बहुमत साबित करने में सक्षम नजर नहीं आ रही है. शिवसेना अपनी शर्तों पर अड़े रहते हुए NDA से अलग होने तक की बात कह दी है वहीँ NCP ने अपना समर्थन देने के लिए शर्त रख दी है कि शिवसेना को अगर उनका समर्थन चाहिए तो उन्हें NDA का दामन छोड़ना पड़ेगा. इसके बावजूद भी सब सभी दल बहुमत साबित करने में नाकाम रहे तो राज्य में राष्ट्रपति शासन को मंजूरी दे दी गयी.

जानकारी के लिए बता दें महाराष्ट्र में बदलते सियासी क्रम के बीच सूत्रों के हवाले से बड़ी खबर आ रही है. बताया जा रहा है कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने का फार्मूला शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के बीच लगभग तय हो चुका है. सूत्रों के अनुसार सभी पार्टियों के बीच लगभग सभी मुद्दों पर चर्चा हो चुकी है लेकिन कुछ मुद्दों पर बात अभी रुकी हुई है.

शिवसेना ने बीजेपी के साथ सरकार बनाने के लिए जिस फ़ॉर्मूले की पेशकश की थी उसी फ़ॉर्मूले के अनुसार शिवसेना और एनसीपी सरकार बना सकती हैं. इस हिसाब से शिवसेना अपने ही बनाये जाल में फंसती नजर आ रही है. सूत्रों के अनुसार राज्य में ढाई साल सीएम शिवसेना का तो ढाई साल एनसीपी का रहेगा.

गौरतलब है कि शिवसेना और एनसीपी के साथ कांग्रेस भी इस गठबंधन में शामिल रहेगी. वहीँ खबर ये भी आ रही है कि शिवसेना और एनसीपी का सीएम अगर ढाई-ढाई साल तक रहेगा तो उसका डिप्टी सीएम पूरे पांच साल तक रहेगा. हालाँकि अभी अधिकारिक रूप से इस तरह के गठबंधन का ऐलान नहीं किया गया है लेकिन सूत्रों के अनुसार जल्द ही सरकार का गठन हो सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.