Categories
News

दो सगी ब’हनें एक म’ही’ने के अंदर बन गए सगे भाई, जानिए हैर’त वाला मा’म”ला…

हिंदी खबर

आए दिन आपको अजीबो ग’रीब खबर पढ़ने और सुनने को मिल ही जाता है। जिस पर विश्वा’स कर पा’ना थो’ड़ा मु’श्कि’ल होता है लेकिन हकीकत तो यही होता है। एक ‘ऐसा मामला जिसकी चर्चा हर ज’ग’ह हो रही है। आपने ‘से’क्‍’स चें’ज’ के बा’रे में तो जरूर सु’ना होगा।

पश्चिमी देशों में यह बड़े पैमाने पर प्र’चल’न में है लेकिन आज हम आपको दो पा’कि’स्‍ता’नी बहनों की कहानी के बा’रे में बताने जा रहे हैं जि’न्‍हों’ने अ’प’ना से’क्‍स चें’ज क’रवा लि’या है।

अब वह सगे बहनें नहीं बल्कि भाई बन गए हैं। इन दोनों की ये कहानी पा’किस्‍ता’न सहित पूरी दुनिया में चर्चा का वि’ष’य बनी हुई है। आ’प’को बता दे कि ये दोनों बहनों में ब’च’प’न से ही लड़की जैसे कोई ल’क्ष’ण नहीं थे। यहां तक एक निश्चित उम्र त’क दो’नों ब’ह’नों को मा’ह’वा’री भी नहीं आई थी।

इसके बाद इनके माता पिता इन दोनों को ईलाज के लिए अस्प’ता’ल लेकर गए जहां उन्हें पता चला कि दोनों बहनें ‘ए’टि’पिक’ल जेनेटेलिया’ का शिकार थी और दो’नों को जें’डर चेंज ऑ’परे’श’न की ज’रू’र’त थी।

बता दें ए’टि’पि’क’ल जे’नेटे’लि’या’ एक ऐसी समस्या होती है जिसमें जन्म के बाद बच्चों को जेंडर स्पष्ट नहीं होता है। यह काफी रेयर मामला होता है इन दोनों सगी बहनों का ऑपरेशन इस्लामाबाद के पाकिस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल सा’इं’से’ज के चि’ल्ड्रे’न’ हॉस्पिटल में 12 डॉक्टरों की टीम ने कि’या है।

वहीं पाकिस्‍तान के पंजाब प्रांत के गुजरात जिले के सोनबाड़ी गांव में छात्र वलीद आबिद ने बताया कि वह इ’स्ला’मा’बा’द से लड़का बन कर गुजरात पहुंचे हैं।

उन्‍होंने कहा कि इस बा’त की मु’झे इत’नी ख़ु”शी है कि मैं ब’ता नहीं सक’ता। मुझे तो बच’पन से ही ल’ड़’कि’यों के कपड़े प’संद न’हीं थे।