Categories
Other

इस बार 7 हजार अर्धसैनिक बलों की निकासी,जम्मू-कश्मीर से वापस बुलाए जा रहे केंद्रीय बल

आर्टिकल 370 को निष्प्रभावी करने की वजह से जम्मू-कश्मीर में तैनात केंद्रीय बलों को वापस बुलाया जाने लगा है. केंद्रीय पुलिस बल की 72 कंपनियों को जल्द ही हटाया जाएगा. वहीं मंगलवार को केंद्रीय गृह मंत्रालय की उच्चस्तरीय बैठक में इसका निर्णय लिया गया है कि फैसले में कहा गया है कि इन अर्धसैनिक बलों को दोबारा वहीं तैनात किया जाएगा, जहां से हटाकर उन्हें जम्मू-कश्मीर भेजा गया था. आपको बता दें कि इस महीने की शुरुआत में भी वहां से 20 कंपनियों को वापस बुलाया गया था.


आपको बता दें कि गृह मंत्रालय की हाई लेवल मीटिंग में फैसला हुआ है कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की 24, सीमा सुरक्षा बल की 12, केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल की 12, भारत-तिब्बत सीमा पुलिस की 12 और सशस्त्र सीमा बल की 12 कंपनियों को नए घोषित केंद्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर से निकाला जाएगा. वहीं हर कंपनी में करीब 100 जवान होते हैं. मतलब 7 हजार से ज्यादा अर्धसैनिक बल जम्मू-कश्मीर से निकल जाएंगे. मंगलवार को गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में नए केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के विकास मामलों और सुरक्षा स्थिति पर चर्चा हुई हैं


अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला, जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल जीसी मुर्मू, केंद्रशासित प्रदेश पर गृह मंत्रालय में वरिष्ठ सुरक्षा सलाहकार के. विजय कुमार समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने बैठक में भाग लिया है. वहीं अधिकारी ने बताया कि ‘जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा स्थिति की समीक्षा करने के लिए बैठक बुलाई गई थी’. जिसमें अधिकारी हालात का जायजा लेने जल्द ही जम्मू-कश्मीर भी जाएंगे.


गौरतलब है कि गत पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 के लिए जम्मू-कश्मीर को मिला विशेष अधिकार वापस लिए जाने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में अलग किए जाने के बाद से कश्मीर घाटी में कई पाबंदियां लागू की गई थीं, जिन्हें बाद में हटा लिया गया था. अभी भी प्रदेश के तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती के साथ कई लोगों को हिरासत में रखा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.