Categories
News

Big breaking-: 20 से 40 घंटे में खत्म होगा किसानों का आं’दोलन, होने वाला है…

खबरें

तीन कृषि कानूनों को लेकर केंद्र सरकार और प्रदर्शन कर रहे किसानों के बीच जारी ग’तिरो’ध को लेकर हरियाणा के उ’पमुख्यमं’त्री और जन’नाय’क जनता पार्टी के नेता दुष्यंत चौटाला ने शनिवार को कहा कि उन्हें उम्मीद है कि अगले 24 से 40 घंटे में केंद्र और किसान संगठनों के बीच अगले दौर की बातचीत होगी। दुष्यंत चौटाला ने यह बात केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मु’ला’कात के बाद कही है।

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मु’लाकात करने के बाद चौ’टाला ने कहा कि जब तक वह राज्य सर’कार का हि’स्सा हैं, प्रत्येक किसान की फसल की खरीद सरकार की ओर से निर्धा’रित न्यून’तम स’मर्थ’न मू’ल्य पर सु’निश्चित की जाएगी। चौटा’ला ने इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, खाद्य-रेलवे-वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल से भी मुलाकात की थी।

हरियाणा सरकार फिलहाल स्थिर’
दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हरियाणा सरकार फिलहाल स्थिर है और उनकी पार्टी का एमएसपी के मु’द्दे पर ठोस रुख है। बता दें कि चौटाला पर विपक्षी पार्टियों और हरियाणा के कुछ किसानों का बीजेपी नीत हरियाणा सरकार से इ’स्तीफा देने का दबाव है। उन्होंने पहले कहा था कि अगर एमएसपी व्यवस्था को ख’तरा उत्प’न्न हुआ, तो वह इस्ती’फा दे देंगे। यह पूछे जाने पर कि क्या ह’रियाणा की ग’ठबंध’न सरकार स्थिर है, चौटाला ने शनिवार को कहा, ”हां…जबतक हम एमएसपी सु’निश्चि’त करते हैं तबत’क हम स्थिर रहेंगे।

’24 से 40 घंटे में नए दौर की बातचीत होगी’
जननायक जनता पार्टी (जजपा) नेता ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि अगले 24 से 40 घंटे में नए दौर की बातचीत होगी और कुछ निर्णायक बयान सामने आएंगे। चौटाला ने बताया कि उन्होंने सुबह राजनाथ सिंह और पीयूष गोयल से भी मुलाकात की। उन्होंने कहा कि हम सभी को बैठकर मुद्दे का हल करने की जरूरत है… जिस तरह से केंद्र सरकार, प्रदर्शनकारी किसानों से बात कर रही है और किसान संगठनों की मांग पर 24 पन्नों का जवाब दिया है, उसे देख मैं आशान्वित हूं कि आपसी सहमति से इस मुद्दे का समाधान निकल जाएगा।

किसानों से सं’वाद से ही निकलेगा स’माधा’न’
चौटाला ने कहा कि संवाद से ही समाधान निकलेगा। उम्मीद पर दुनिया कायम है। उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि अगले दौर की वार्ता जल्द होगी और दोनों तरफ से कुछ सकारात्मक नतीजा आएगा। यह पूछे जाने पर कि क्या सरकार ए’मए’स’पी के सं’बंध में लिखित आ’श्वास’न को वै’धानि’क मा’न्यता देगी तो उप मुख्यमंत्री ने कहा कि जो भी वे मांग करते हैं।

विप’क्षी पा’र्टियों की ध’मकी पर बोले चौटा’ला
हरियाणा में राज्य सरकार के खिला’फ अ’विश्वा’स प्रस्ता’व लाने की वि’पक्षी पा’र्टियों की ध’मकी पर चौ’टाला ने कहा कि कां’ग्रेस पार्टी इस तरह का बया’न दे रही है। पंजाब और हरियाणा के किसान संगठनों को आ’शंका है कि नए कृषि कानूनों से ए’मए’सपी व्य’वस्था ख’त्म हो जाएगी। इस व्यव’स्था के तहत सर’कारी एजें’सियां एक नि’श्चि’त की’मत पर कि’सानों की फ’सलें ख’री’दती हैं। केंद्र ने बुधवार को कि’सानों को दिए गए अपने प्र’स्ताव में कहा था कि ए’मएस’पी व्यव’स्था बर’करार रहने के संबंध में वह लिखित आ’श्वास’न देने और उनकी अन्य मांगों का समाधान करने को तैयार है। हालांकि, किसान संग’ठन तीनों कृषि कानूनों को पूरी तरह वाप’स लिए जाने की मांग कर रहे हैं और उन्होंने अपने आं’दोलन को तेज करने की चेता’वनी दी है।