Categories
Other

सुप्रीम कोर्ट की तरफ से सीएम कमलनाथ को मिला बड़ा झटका

मध्यप्रदेश में कांग्रेस पार्टी के कद्दावर नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ उनके 22 विधायकों के इस्तीफे के बाद अब कमलनाथ सरकार के पास एक बार फिर एक नई मुसीबत सामने आ गई है. आपको बता दें कि अब मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ को सुप्रीम कोर्ट की तरफ से बड़ा झटका लगा है. जिसके फैसले से बीजेपी में खुशी की लहर दौड़ गई है. चालिए आपको बताते हैं कि सुप्रीम कोर्ट ने क्या फैसला लिया है.

आपको बता दें कि बीजेपी ने मध्यप्रदेश में जारी सियासी घमासान के संबंध में सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी. बीजेपी की तरफ से इस मामले पर सुनवाई करने के लिए मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने याचिका दायर की है. बताते चलें कि इस याचिका में उन्होंने दावा किया है कि, कमलनाथ सरकार अब बहुमत में नहीं है. इसलिए उन्हें सरकार चलाने का संवैधानिक रूप से कोई हक नहीं है. भाजपा ने याचिका में मांग की है कि इस स्थिति में जल्द से जल्द फ्लोर टेस्ट कराया जाए ताकि स्थिति साफ हो सके.

जानकारी के लिए आपको बता दें कि,राज्यपाल लालजी टंडन ने सोमवार को बड़ा कदम उठाते हुए सीएम कमलनाथ को लिखे गए पत्र में कहा गया है कि, आपको बहुमत साबित करने के लिए कहा गया था, लेकिन इस दिशा में आपके द्वारा प्रयास नहीं किया गया. लेकिन अब आप 17 मार्च तक बहुमत साबित करें वरना, ये माना जाएगा कि आपको विधानसभा में बहुमत प्राप्त नहीं है।

राज्यपाल के पत्र के बाद कांग्रेस पार्टी को अब सुप्रीम कोर्ट की तरफ से भी बड़ा झटका लगा है. बीजेपी की तरफ से दायर की गई याचिका पर सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने मध्यप्रदेश विधानसभा के स्पीकर और मुख्यमंत्री कमलनाथ से फ्लोर टेस्ट न कराने पर जवाब मांगा है. साथ ही बता दें कि इस पूरे मामले पर राज्यपाल का पक्ष जानने के लिए भी सुप्रीम कोर्ट ने राज्यपाल को भी नोटिस भेजा है।