Categories
Entertainment News

कोरोना से जंग में वैज्ञानिकों को मिली यह बड़ी कामयाबी, इस तरह से होगा फायदा👇👇👇

कोरोना वायरस

कोरोना से जंग में वैज्ञानिकों को मिली यह बड़ी कामयाबी, इस तरह से होगा फायदा

वैज्ञानिकों ने आखिरकार यह पता लगा लिया है कि कोरोना (CoronaVirus) पीड़ितों में लक्षण दिखने का संभावित क्रम क्या होता है.

खास बातें

  • वैज्ञानिकों ने कोरोना पीड़ितों में लक्षण दिखने के संभावित क्रम का पता लगाया
  • इस खोज से डॉक्टरों को अन्य रोगों की आशंका को खारिज करने में मदद मिलेगी
  • कोरोना पीड़ित को समय पर इलाज उपलब्ध कराया जा सकेगा

नई दिल्ली: वैज्ञानिकों ने आखिरकार यह पता लगा लिया है कि कोरोना (CoronaVirus) पीड़ितों में लक्षण दिखने का संभावित क्रम क्या होता है. इस खोज से डॉक्टरों को अन्य रोगों की आशंका को खारिज करने में मदद मिलेगी और कोरोना पीड़ित को समय पर इलाज उपलब्ध कराया जा सकेगा.   

फ्रंटियर्स इन पब्लिक हेल्थ मैगजीन में प्रकाशित अध्ययन में कहा गया है कि COVID-19 के मरीजों में सबसे पहला संभावित लक्षण है बुखार, उसके बाद खांसी, मांसपेशियों में दर्द, मितली, उल्टी और फिर दस्त होते हैं.  

अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ सदर्न कैलिफोर्निया (University of Southern California) में मेडिसिन एवं बायोमेडिकल इंजीनियरिंग के प्रोफेसर और अध्ययन के सह-लेखक पीटर कुन (Peter Kuhn) ने कहा कि इस क्रम को समझना तब खासतौर पर आवश्यक हो जाता है, जब फ्लू जैसे परस्पर रोगों का चक्र चल रहा हो, जो कोरोना की तरह ही हैं.null

कुन के कहा कि इस नई जानकारी की मदद से अब डॉक्टर यह तय कर सकेंगे कि मरीजों की देखभाल के लिए क्या कदम उठाने की जरूरत है. इससे मरीजों को तुरंत सही इलाज मिल पाएगा और स्थिति बिगड़ने से पहले ही सही फैसले लिए जा सकेंगे. शोधकर्ताओं के मुताबिक, मरीजों की पहचान समय रहते होने से अस्पताल में भर्ती होने का समय घटेगा. वैसे भी अब पहले के मुकाबले कोरोना के उपचार के बेहतर तरीके मौजूद हैं.

शोधकर्ताओं ने इसके लिए चीन के 55,000 से अधिक संक्रमण के मामलों में से लक्षण वाले मामलों की दर का विश्लेषण किया. यह डेटा विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा 16 से 24 फरवरी के बीच एकत्र किया गया था. साथ ही शोधकर्ताओं ने चाइना मेडिकल ट्रीटमेंट एक्सपर्ट ग्रुप की तरफ से उपलब्ध कराये गए 11 दिसंबर, 2019 से 29 जनवरी, 2020 के बीच के 1100 मरीजों के डेटा को भी अध्ययन में शामिल किया. null

वैज्ञानिकों ने COVID-19 और इन्फ्लूएंजा के क्रम की तुलना की. इसके लिए उन्होंने 1994 से 1998 के बीच दर्ज उत्तर अमेरिका, यूरोप तथा दक्षिणी गोलार्ध के 2,470 मामलों के फ्लू डेटा का अध्ययन किया. प्रमुख शोधकर्ता जोसफ लार्सन (Joseph Larsen) ने कहा कि लक्षण नजर आने का क्रम मायने रखता है और यह ज्ञात होना बेहद जरूरी है. हर बीमारी अलग तरीके से आगे बढ़ती है, इसलिए हमारी खोज से डॉक्टर जल्द यह पता लगा सकेंगे कि कोई व्यक्ति COVID-19 से पीड़ित है या फिर उसे कोई अन्य रोग है. इससे वह उपचार संबंधी बेहतर फैसले ले सकते हैं.

रिसर्च के अनुसार, कोरोना प्रभावितों में सबसे ज्यादा देखा गया लक्षण बुखार है. पहले बुखार होता है, उसके बाद खांसी, सांस लेने में परेशानी और अंत में दस्त होते हैं.