Categories
News

सुप्री’म कोर्ट-को’रोना की मार झेल रहे से’क्स वर्करों के ऊपर सर’का’र हुई मेहर’बान,अब से सर’का’र देगी….

हिंदी खबर

सुप्री’म को’र्ट ने कहा कि ने’शन’ल एड्स कंट्रो’ल ऑर्गे’नाइ’जेशन और जिले की संस्थाओं द्वारा जिन से’क्’स व’र्क’रों की पह’चा’न की गई है, उन सभी को राज्य सर’का’र और कें’द्र शा’सित’ प्रदेश सू’खा राश’न मुहै’या कराए.

केंद्र सर”’कार ने सुप्री’म कोर्ट में सह’मति ज’तायी है कि राज्यों में सेक्’स वर्क’र्स को कम की’मतों यानी कि छूट पर राश’न मुहै’या क’रा’या जाए. 

इस मामले में एक जनहित चिसका पर सुन”वाई करते हुए सुप्री’म को:र्ट ने कहा है कि स:भी राज्य और कें’द्र शा’सि’त’ प्रदेश सभी सेक्’स वर्क:’रों को : राश’न मुहै’या कराए. 

अदाल’त ने कहा कि नेश’नल एड्:स कंट्रो’ल ऑर्गे’नाइ’जेशन और जि:ले की संस्था:ओं द्वारा जिन सेक्स वर्क’रों को पह:चान की गई है, उनसभी को राज्’य’ सर”का’र और केंद्र शा’सित प्रदे’श ‘ राश’न मुहै’या कराए. अदा:लत ने यह भी कहा है कि राशन देने के दौरान सर’का’री एजें”सि’यां राश’न कार्ड :मांग’ने पर जोर न दे. 

को’रोना वाय’रस संक्र,मण की व’जह से भूख:मरी की कगार पर प’हुंच चुके से’क्’स वर्क,रों की स,मस्,या पर सुन:वाई करते हुए अदालत ने सभी: राज्”यों और कें:द्र शा:सित प्रदेशों को 4 हफ्ते में हलफ’नामा दाखि:ल कर यह बताने को कहा कि इन 4 हफ्तों में राज्यों, केंद्र शा’सित प्रदेशों ने कितने कि,सा’नों, को सू”खा राशन मु’है’या कराया है. 

केंद्र स:र’कार ने सेक्”स वर्करों को सूखा’ राशन मुहैया कराने पर सहम’ति जताई है. 

सुप्री,म कोर्ट ने कें’द्र सर’कार’ से यह भी पूछा है कि जिस तरह उसने ट्रांसजेंडरों को 1500 रुपये की आर्थिक सहा”यता मुहै::या कराई है उसी तर्ज पर क्या से”क्स वर्करों को भी ये आर्थिक सहा”यता दी जा सकती है.  

सुप्री”म कोर्ट के इस सवा”ल पर केंद्र के वकी”ल ने कहा कि वह इस पर सर::कार से निर्देश लेकर अदाल”त को सू”चित करेंगे.

सु’प्रीम कोर्ट के इस निर्दे”श के बाद स”भी राज्य सरकारें सेक्स वर्कर्स को राशन कार्ड मुहैया कराने समेत अन्य व्यव”स्थाओं पर जवाब दाखिल करेंगी.