Categories
Other

कांग्रेस की पूर्व सांसद ने दुनिया को कहा अलविदा, देश में छाई शोक की लहर

ऐसा लगता है कि ये साल राजनीतिक पार्टियों के लिए कोई खास अच्छा नजर नहीं आ रहा है. क्योंकि अभी ये साल शुरू ही हुआ है और हर दिन किसी न किसी नेता के निधन की ख़बरें सामने आ रही है. देश में जब भी किसी नेता का निधन होता है तो उससे सिर्फ उनका परिवार नहीं बल्कि पूरे देश को ये खबर बुरी तरह प्रभावित करती है.आपको बता दें कि आज सुबह तृणमूल कांग्रेस की पूर्व सांसद कृष्णा बसु का निधन हो गया है. कोलकाता के ईएम बाईपास के पास स्थित एक गैरसरकारी अस्पताल में उन्होंने सुबह 10:20 बजे आखिरी सांस ली. बताते चलें कि वे अभी 89 साल की थी. 

वहीं परिजनों ने बताया कि कृष्ण बसु लंबे समय से हृदय की बीमारी से परेशान थीं. सीने में दर्द के बाद उन्हें कल अस्पताल में भर्ती किराया था जहां उनका इलाज चल रहा था. जानकारी के मुताबिक बताया गया है कि आज शाम को उनका अंतिम संस्कार किया जा सकता है. इसमें मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी शामिल हो सकती है. आपको बता दें कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस के परिवार से संबद्ध कृष्णा बसु 1998 में पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर जादवपुर लोकसभा केंद्र से सांसद चुनी गई थीं. 

कृष्णा बसु ने पीएम मोदी के बड़ बोले पन पर संयम रखने की नसीहत दी थी. साथ ही कहा था कि आपको भी ये नहीं भूलना चाहिये की राज्य सरकारें भी जनता द्वारा चुनी जाती हैं और उनके पास भी अधिकार होते हैं। उन्होंने दोनों नेताओं को समझाते हुए कहा था कि अगर नेता अपनी वाणी पर नियंत्रण नहीं रखेंगे तो ये बेवजह के बयानों का सिलसिला कभी नहीं रुकेगा और संघीय सरकार उचित तरीके से काम नहीं कर सकेगी।