Categories
News

नाइट क’र्फ्यू के बाद देश में लगेगा संपूर्ण लॉ’कडाउ’न? PM मोदी ने अभी अभी किया….👇

खबरे

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में कहा कि टेस्टिंग, ट्रैकिंग और ट्री’टमें’ट पर बल देना जरूरी है। उन्होंन कहा कि मिनी कं’टेनमेंट जोन बनाए जाएं। ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग हो, बेशक ज्यादा मामले आएं तभी इसका ट्री’टमेंट औऱ ट्रैकिंग की जा सकेगी। को’रो’ना वा’यर’स की दूसरी लहर पहले के मुकाबले कहीं ज्यादा खतरनाक है।. उन्होंने कहा कि नाइट क’र्फ्यू की आ’लोच’ना हो रही है लेकिन इसके प्रभाव को पूरी दुनिया ने स्वीकार किया है।

मोदी ने कहा कि 11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक टीका उत्सव मनाएं। अभी संपूर्ण लॉ’कडा’उन की जरूरत नहीं है। पीएम ने कहा कि कोविड-19 का एक बड़ा हिस्सा वै’क्सीन मैनेजमेंट वेस्टेज को रोकना भी है। शत-प्रतिशत वै’क्सीन लगाने का प्रयास हो। एंबुलेंस, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन की भी समीक्षा करनी होगी।

उन्होंने कहा कि वै’क्सीन लगवाने के बाद भी लापरवाही ना बरतें। उन्होंने कहा कि आसपास के लोगों को वै’क्सी’न के प्रति बढ़ावा दें। पीएम मोदी ने कहा कि ‘दवाई’ भी और ‘कड़ाई’ भी की जरुरत है। उन्होंने कहा कि एक ही राज्य को पूरी वै’क्सीन नहीं दे सकते हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कोरोना के मरीजों के बढ़ने पर राज्य दबाव में ना आएं। कोरोना के टेस्ट सही ढंग से किए जाएं। कंटेनमेंट जोन में हर व्यक्ति की जांच हो। जहां संख्या ज्यादा है वहां पर ज्यादा टेस्ट हो रहे हैं।

पीएम ने कहा कि कोरो’ना से बाहर निकलने का रास्ता टेस्टिंग है। हमारा टारगेट 70 फीसदी आरटी-पीसीआर टेस्टिंग का है। आरटी-पीसीआर टेस्ट को बढ़ाए जाने की जरुरत है। माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर फोकस करना होगा। 72 घंटे मे 30 कांटैक्ट ट्रेसिंग की जरूरत है।

पीएम मोदी ने कहा कि कुछ राज्यों में चुनौती बढ़ रही है। हमें गवर्नेंस पर बल देना होगा। पीएम ने कहा कि देश फर्स्ट वेव की पीक को क्रॉस कर चुका है और इस बार का सं’क्रमण पहले से ज्यादा है। हम सब के लिए यह चिंता का विषय है। इस बार लोग पहले की अपेक्षा बहुत ज्यादा कैजुअल हो गए हैं. उन्होंने कहा कि फिर से यु’द्ध स्तर पर काम करना होगा। जन भागीदारी के साथ साथ हमारे डॉक्टर्स स्थित को संभालने में आज भी लगे हुए हैं।

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि कोरो’ना के मामले दो’बारा बढ़ रहे हैं। ऐसे में तत्काल उपाय जरूरी हो गया है।. उन्होंने कहा कि देश में 9 करोड़ से अधिक का टी’काकर’ण हो चुका है। 45 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों का टी’काकर’ण शीघ्र पूर्ण किया जाए।