Categories
Other

लॉकडाउन पार्ट-2 में क्या कुछ हो सकता है अलग, पीएम मोदी के संबोधन से पहले लगाए जा रहे है ऐसे कयास

देश में कोरोना वायरस महामारी के 21 दिनों का लॉकडाउन कल खत्म हो रहा है. ऐसे में कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुबह 10 बजे देश को संबोधित करेंगे, जिसमें वो लॉकडाउन को लेकर कुछ नई बातें और नए नियम पर बात कर सकते हैं. उनके संबोधन को लेकर अब कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं कि क्या प्रधानमंत्री अपने संबोधन में लॉकडाउन बढ़ाने का ऐलान करेंगे. अगर लॉकडाउन बढ़ता है तो उसमें किस तरह के बदलाव हो सकते हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब 11 अप्रैल को मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की थी, उसी के बाद संकेत मिलने लगे थे कि लॉकडाउन को 30 अप्रैल तक बढ़ाया जा सकता है. इस बैठक के बाद कई राज्यों ने ऐसा कर भी दिया है, जैसे कि ओडिसा, पंजाब, महाराष्ट्र और अब तमिलनाडु. लेकिन देशव्यापी लॉकडाउन पर फैसला प्रधानमंत्री को ही करना है.

पहले लॉकडाउन से अलग होगा लॉकडाउन-2?

इस प्रकार के संकेत दिए जा रहे हैं कि 15 अप्रैल से अगर दूसरा लॉकडाउन शुरू होता है, तो वह पहले लॉकडाउन से कुछ अलग होगा. इस बार सरकार कुछ क्षेत्रों को राहत दे सकती है, ताकि अर्थव्यवस्था और सामान्य जीवन पटरी पर चलता रहे. इनमें कुछ उद्योग, किसान और मजदूरों को राहत मिलना संभव है.

दूसरे लॉकडाउन में इन क्षेत्रों में राहत संभव?

– बैसाखी के त्योहार के बाद फसल काटने की प्रक्रिया शुरू होगी, ऐसे में मजदूरों को कृषि गतिविधियों तक पहुंचाने के कुछ विशेष ट्रेन/बस चलाई जा सकती हैं. जब पहले लॉकडाउन का ऐलान हुआ था तब कई मजदूर कुछ राज्यों में फंस गए थे.

– सरकार की ओर से अबतक कोरोना संकट के बीच एक बार राहत पैकेज का ऐलान किया जा चुका है, लेकिन अब उम्मीद जताई जा रही है कि दिहाड़ी मजदूरों के लिए कुछ विशेष ऐलान हो सकते हैं.

– अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए जरूरी सामानों के निर्माण से जुड़े कुछ और उद्योगों को छूट दी जा सकती है. हालांकि, यहां पर भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जरूरी होगा.