Categories
Other

महाराष्ट्र के CM बने देवेंद्र फडणवीस को इस चीज़ का है बहुत शौक

महाराष्ट्र में चुनाव के बाद से ही मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवारी को लेकर शिवसेना और भाजपा आमने-सामने रहीं है. लेकिन आज सुबह एक बड़ा सियासी उलटफेर देखने को मिला है.जहां भाजपा के देवेंद्र फडणवीस ने दोबारा से प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली और वहीं अजित पवार ने उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई इससे पहले तक शिवसेना के कांग्रेस, एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बनाने जा रही थी. वहीं सीएम पद के लिए उद्धव ठाकरे का नाम सबसे आगे था. महीने भार से लगातार दौड़-धूप कर रही शिवसेना को भनक तक नहीं लगी.

चालिए आपको बताते है सीएम देवेंद्र फडणवीस के जीवन की कुछ खास बातें

देवेंद्र फडणवीस का जन्म महाराष्ट्र के नागपुर में 22 जुलाई 1970 को हुआ था.उनकी मां सरिता अमरावती के प्रसिद्ध कलती परिवार की वंशज हैं. देवेंद्र ने नागपुर के सरस्वती विद्यालय से अपनी स्कूली शिक्षा ली. उन्होंने 1986-87 में धरमपेठ जूनियर कॉलेज में दाखिला लिया. फिर लॉ कॉलेज नागपुर से कानून की डिग्री पूरी की. अपने कॉलेज के दिनों में वे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के सक्रिय सदस्य भी रहे थे. उन्होंने 2006 में अमृता रानाडे से विवाह किया. देवेंद्र और अमृता की एक बेटी दिविजा है. साल 2001 में वे भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाए गए.

देवेंद्र फड़नवीस को किताबें लिखना बहुत पसंद हैं. उन्होंने तीन मराठी किताब भी लिखी हैं. सीएम फडणवीस काे राजनीति विरासत में मिली है. उनके पिता गंगाधर राव राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और जनसंघ में रहे है. हालांकि उन्होंने राजनीति में पिता से अलग अपनी खुद की पहचान बनाई सभी को साथ लेकर चलने की उनकी अनूठी शैली के कारण ही उन्हें सक्रिय राजनीति में आगे चलकर सीएम जैसे महत्वपूर्ण पद पर काम करने का अवसर मिला. कई राजनीतिक उतार-चढ़ाव के बावजूद उन्होंने पांच साल सफलतापूर्वक महाराष्ट्र की सरकार चलाई.

Leave a Reply

Your email address will not be published.