Categories
Other

तब्लीगी जमात के प्रमुख मौलाना मोहम्मद साद ने पुलिस के नोटिस का दिया जवाब

निजामुद्दीन में हुई तब्लीगी जमात की वजह से अब पूरे दुनिया के अलग अलग हस्सों में तबाही मची हुई है. आपको बता दें कि इसको लेकर दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने मौलाना साद को एफआईआर दर्ज किराई गई थी. साथ ही एक नोटिस भी जारी किया था. अब इस सब को लेकर तब्लीगी जमात के प्रमुख मौलाना मोहम्मद साद ने अब इसका जवाब दिया है. आइए आपको बताते है मोहम्मद साद ने क्या कहा.

मोहम्मद साद ने जवाब में कहा है कि उसका मरकज सील है और उसने खुद को क्वॉरंटीन कर लिया है. लिहाजा वह पुलिस की ओर से पूछे गए किसी भी सवाल का जवाब नहीं दे सकता. यानी जो मौलाना साद कोरोना को कुछ भी नहीं मानता था अब कोरोना वायरस की आड़ में ही बचने की कोशिश कर रहा है.

आपको बता दें कि दिल्ली पुलिस ने मौलाना के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी और एक नोटिस जारी किया था. इस नोटिस में कुल 36 सवाल पूछे गए थे. जिनमें पूछा गया था कि तब्ली्गी मरकज में कुल कितने कर्मचारी काम करते हैं? उनके फोन नंबर और पते क्या हैं? क्या उसकी जमात में पिछले तीन सालों के दौरान कोई आयकर रिटर्न फाइल किया है? अगर किया है तो उसकी कॉपी उपलब्ध कराई जाए.

अब पुलिस ने बताया है कि मुताबिक मौलाना साद की तरफ से जवाब आ गया है. इस जवाब में मौलाना साद ने कहा है कि उसके सभी साथियों ने और खुद उसने सेल्फ क्वॉरंटीन कर लिया है. लिहाजा वह 14 दिनों के लिए ना तो कहीं जा सकता है और ना ही किसी से कुछ पूछ सकता है.

जवाब में साद ने कहा गया है कि उसका मरकज इस समय सील है. लिहाजा वहां से कोई दस्तावेज आदि भी बाहर नहीं आ सकता. जवाब में कहा गया है कि वह सेल्फ क्वॉरंटीन होने के नाते नोटिस का जवाब देने में सक्षम नहीं है. पुलिस के एक आला अधिकारी ने बताया कि साद के जवाब का आकलन किया जा रहा है.