Categories
News

चित्रकूट ग’धा मेले में सलमान-शाहरुख बिकें सबसें महंगें, जानें पप्पू और जॉनी लीवर के दाम…..

खबरें

चित्रकूट में हर साल लगने वाले ग’धे मेले में इस बार स’लमान-शा’हरु’ख नाम के गधों का जलवा रहा, पप्पू नाम का ग’धा भी अंततः अच्छी कीमत पाने में का’मया’ब रहा. नवभारत टाइम्स अखबार में छपी खबर के मुताबिक, चित्रकूट में दिवाली के दूसरे दिन ग’धा मेला लगता है, हर वर्षों की भांति इस वर्ष भी ग’धा मेला लगा और स’लमान-शा’हरु’ख नाम के ग’धों पर जमकर कीमत बरसी। ये दोनों इस बार सबसे महंगे बिके। बाकि बिकने वाले ग’धों में कोई 60 हजार, कोई 55 हजार कोई 50 तो कोई 40 हजार रूपये में बिका।

गधे मेले में शा’हरुख नाम का ग’धा 1 लाख रूपये में और स’लमा’न नाम का ग’धा 90 हजार रूपये में बिका। वहीँ अ’म’जद नाम का ग’धा 60 हजार, जानी ली’वर नाम का ग”धा 55 हजार। प’प्पू नाम ग’धा 50 हजार, दि’ग्गी 48 हजार और अम’रीस अ’सरानी, ग’ब्बर व् बी’रु नाम के ग’धे 40-40 हजार रूपये में बिके।

ये ग’धा मेला चित्रकूट के मन्दाकिनी नदी के किनारे लगता है, हालाँकि इस वर्ष कोरो’ना के कारण खरीददारों में भारी कमी आई. इस बार मेले में करीब 2 हजार ग’धे ही बिक पाए. रिपोर्ट के मुताबिक, जबकि पहले 7-8 हजार गधे बिक जाते थे. बीते साल के मुकाबले इस बार 60 फीसदी कम व्यापारी मेले में आये थे.

मु’गल काल से चली आ रही ये परंपरा सुविधाओं के अभाव में अब लगभग खा’त्मे की कगार पर है. नदी के किनारे भी’षण गं’दगी के बीच लगने वाले इस मेले में व्यापारियो को न तो पीने का पानी मुहैया होता है, और न ही छाया. 3 दिवसीय ग’धा मेले में सुरक्षा के नाम पर हो’मगा’र्ड तक के जवान नहीं लगाए जाते. व्या’पारियों की जानवर बिकें या न बिकें ठेकेदार उनसे पै’से वसू’ल लेता है.