Categories
News

अभी अभी एमयू के छात्रों ने पीएम मोदी से की मांग, सुनकर…….

खबरें

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) हमेशा चर्चा का विषय बनी रही है. फिर चाहे जिन्ना की तस्वीर को लेकर विवाद हो या फिर सीएए और एनआरसी को लेकर विरोध प्रदर्शन का ही मामला हो. एमयू इन सब मुद्दो पर जमकर सरकार का घेराव करते हुए नजर आती है. लेकिन इन सबके बीच आज पीएम मोदी एमयू के शताब्दी वर्ष के मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में जुडेगे. ऐसा 56 साल बाद हो रहा है.

पीएम मोदी मंगलवार को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एमयू) के शताब्दी समारोह को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करेंगे. पीएम मोदी के साथ ही केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक भी इस समारोह में शामिल होंगे. यह कार्यक्रम इसलिए बेहद खास है क्योंकि यह लगभग 56 साल बाद होगा जब देश का प्रधानमंत्री एमयू के कार्यक्रम को संबोधित करेंगे.

दूसरी तरफ वहीं इस मौके पर एएमयू के छात्रों ने पीएम मोदी के नाम दिए ज्ञापन में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (SC-ST) के लिए भी यूनिवर्सिटी बनाने की मांग की है. मांग करते हुए छात्रों ने कहा है कि ‘इस यूनिवर्सिटी में एससी-एसटी के छात्रों को पूर्ण रूप से आरक्षण हासिल हो. छात्रो ने यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर को एक ज्ञापन सौंपा है और समे उन्होने ये मांग की है कि एससी-एसटी यूनिवर्सिटी के लिए प्रोपजल सरकार में पास करके उसके लिए अलग से ज़मीन आवंटित की जाए.