Categories
ज्योतिष

इसे नाखून पर लगाते ही शत्रु की शक्ल दिखाई देगी..

ज्योतिष

नाखून भले ही डेड सेल से बने हों, लेकिन फिर भी ये हमारे शरीर का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं. समुद्र शास्त्र के अनुसार किसी भी व्यक्ति के नाखून देखकर भी उसके स्वभाव के बारे में बहुत कुछ जाना जा सकता है. नाखून के अनुसार जानिए कैसा होता है किसका स्वभाव-
नाखून बताते हैं भविष्य


नाखून भले ही डेड सेल से बने हों, लेकिन फिर भी ये हमारे शरीर का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं. समुद्र शास्त्र के अनुसार किसी भी व्यक्ति के नाखून देखकर भी उसके स्वभाव के बारे में बहुत कुछ जाना जा सकता है. नाखून के अनुसार जानिए कैसा होता है किसका स्वभाव-

उत्तम नाखून

उत्तम नाखून जो आर्थिक उन्नति और अमीरी को दर्शाते ह उत्तम नाखून

उत्तम नाखून जो आर्थिक उन्नति और अमीरी को दर्शाते हैं उनके विषय में कहा गया है कि, जिनके नाखून रेखा और धब्बा रहित चिकने और लालिमा युक्त होते हैं वह धनवान होता हैं. नाखून का आकार उंगली के पहले पोर का आधा होना उत्तम माना गया है.

गुलाबी नाखून

गर्ग संहिता के अनुसार जिसके नाखून लाल, चमकीले, चिकने और उठे हुए होते हैं वह सौभाग्यशाली होता है. नाखून उंगली से कुछ बाहर निकले हों और गुलाबी हों तो यह भी सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है. पुरूषों के नाखून मांस में अधिक धंसे नहीं हों और गोल हों तो यह धन-धान्य का सूचक होता है. ऐसा व्यक्ति दिनानुदिन उन्नति की ओर बढ़ता रहता है.

नाखून का आकार और इसका रूप रंग आपकी आर्थिक स्थिति और स्वाभव को भी दर्शाता है. जैसा की गरूड़ पुराण में बताया गया है कि जिसके नाखून पीले होते हैं उसके भाग्य मैं बच्चों का सुख नहीं होता.

नाखूनों पर धब्बे हों और नाखून दिखने में अच्छे नहीं हों तो ऐसा व्यक्ति जीवन में बहुत उन्नति नहीं कर पाता है. इनकी आर्थिक स्थिति सामान्य होती है. नाखून टेढ़े-मेढ़ा और रेखा युक्त होना आर्थिक दृष्टि से प्रतिकूल स्थिति को दर्शाता है.

नाखून पर अर्धचन्द्र

हथेली की अंगुलियों के नाखूनों पर दृष्टि डालें तो नाखून के बीच अर्द्धचंद्र दिखाई देते हैं. किसी के अधिक तो किसी के कम या किसी के नहीं भी होते हैं. ये चिन्ह कभी भी स्थायी न होकर समयानुसार बढ़ते घटते रहते हैं. नाखूनों के मूल भाग में सफेद अर्द्धचंद्र दिखाई दे, तो यह चिन्ह शुभ होकर जातक की उन्नति की ओर इशारा करते हैं. निकट भविष्य में ऐसे जातक उन्नति पाते हैं.

हस्त रेखा विज्ञान के अनुसार अनामिका उंगली के नाखून के बीच तक अर्धचन्द्र की आकृति बनने पर मान-सम्मान एवं पुरस्कार मिलता है. इसे छात्रों को प्रतियोगिता परीक्षाओं में मिलने वाली कामयाबी का भी संकेत माना जाता है. सबसे छोटी उंगली जिसे बुध की उंगली कहा जाता है. इस उंगली के नाखून पर अर्धचन्द्र का दिखना व्यापार में उन्नति एवं लाभ का संकेत होता है.

बौद्धों की मुस्लिमों से यूं है पुरानी दुश्मनी

तर्जनी अंगुली के नख के मूल में अर्द्धचंद्र हो तो वह जिस क्षेत्र में भी हो उन्नति पाता है. यदि नौकरी में हो तो पदोन्नति शीघ्र मिलती है. मध्यमा अंगुली नख के मूल में अर्द्धचंद्र दिखे तो जातक को कहीं न कहीं से अकस्मात धन मिलेगा. मशीनी कार्य में उसे लाभ भी होगा.

छोटी अंगुली के नख मूल में अर्द्धचंद्र दिखाई दे, तो वह जातक व्यापार के क्षेत्र में उन्नति पाने वाला होता है. उसे भविष्य में मान-सम्मान अवश्य मिलता है. अर्द्धचंद्र ज्यादा से ज्यादा मध्य नाखून में एक सा भी होना फलदायी होता है.

जिन लोगों के नाखून छोटे होते हैं, वे चाहे कितने भी उच्च व सभ्य घराने में पैदा हुए हों, समुद्र शास्त्र के अनुसार अच्छे स्वभाव के नहीं होते हैं. ऐसे व्यक्ति असभ्य व स्वार्थी होते हैं. ये अपना हित साधने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं.

टेढ़े और असामान्य नाखून वाले लोगों से भी बच कर रहना चाहिए. धब्बेदार नाखून वाले लोगों में कहीं न कहीं आपराधिक आदतें छुपी होती हैं.

R अक्षर से शुरू होता है जिनका नाम, उनमें होती है ये खूबियां

छोटे और पीले नाखून व्यक्ति के मक्कार स्वभाव को प्रदर्शित करते हैं, जबकि गोलाकार नाखून व्यक्ति के सशक्त विचारों व तुरंत निर्णय लेने की क्षमता को बताते हैं.

पतले व लंबे नाखून वाले लोग जल्दी निर्णय नहीं ले पाते हैं और इसी प्रवृत्ति के कारण कई बार इन्हें नुकसान उठाना पड़ता है. ऐसे लोग नशे के आदी होते हैं.

छोटे नाखून व गांठदार उंगलियां हों तो ऐसे लोग अपने लाइफ पार्टनर को इशारों पर नचाते हैं. हालांकि, ये चरित्र के अच्छे होते हैं, लेकिन इन पर पूरी तरह से विश्वास नहीं किया जा सकता.

कठोर नाखून वाले व्यक्ति झगड़ालु प्रवृत्ति के साथ ही अपनी जिद के पक्के होते हैं. ये जो ठान लेते हैं, वो कर के ही दम लेते हैं. चाहे वे फिर सही हो या गलत. उन्हें किसी बात की परवाह नहीं होती.