Categories
News

नौक’री करने वा’लों पर ब’ड़ी ख’बर: ब’दल गए ये नि’यम, सर’कार ने जारी किया…..

हिंदी खबर

नई दिल्ली: नौ’करी करने वा’लों के लिए बहु’त ब’ड़ी ख’बर है। श्र’म मंत्रा’लय की तर’फ से न’ई गाइ’डलाइंस जा’री की ग’ई है। इस पर श्र’म मंत्रा’लय से सं’बंधित DGHS या’नी Directorate General of Health Services ने से’फ व’र्कप्लेस के लिए नई गा’इडलाइंस बना’ई हैं।

इन गा’इडलाइंस में बता’या गया है कि सो’शल डि’स्टेंसिंग और कं’पनी के नि’र्देशों का पा’लन करना अ’निवार्य होगा। इ’समें CCTV के मा’ध्यम से क’र्मचारियों पर न’जर रख’ने के भी नि’र्देश दिए गए हैं। क’हा गया है कि नि’र्देश का पा’लन ना करने पर अ’प्रेजल रुक सक’ता है।

प्राइ’वेट कं’पनियों को भी नि’र्देश

श्र’म मं’त्रालय की त’रफ से जा’री इ’समें गा’इडलाइंस में प्रा’इवेट कं’पनियों को भी नि’र्देश दि’या गया है और कहा ग’या है कि इं’डस्ट्री HR पॉ’लिसी में बद’लाव क’रें। स’भी कर्म’चारी के लिए हे’ल्थ बीमा अ’निवार्य कि’या जाए।

इस’के सा’थ ही आगे कहा गया है कि को’रोना के लिए कंप’नियां Special Leave Policy ब’नाएं। इ’समें कंप’नियों को नज’दीकी हॉ’स्पिटल से टा’ई-अप कर’ने के लिए क’हा गया है। इस’के सा’थ ही गा’इडलाइंस के मुता’बिक, क’र्मचारी नि’जी वाह’न या सा’इकिल का इस्तेमा’ल करें।

जा’री गा’इडलाइंस में क’हा ग’या है कि सी’ढ़ियों के इस्ते’माल को प्रोत्साहि’त कि’या जा’ना चा’हि। लि’फ्ट का इस्तेमा’ल कर’ने के दौ’रान एक स’मय में 2 से 4 लो’गों से ज्या’दा की अ’नुमति न’हीं दी जा’नी चा’हिए।

दि’शानिर्देश में य’ह भी बता’या ग’या है कि 5 व’र्ष से क’म उ’म्र के ब’च्चों के मा’ता-पि’ता में से अ’गर दो’नों अग’र का’म क’रते हैं तो उ’न्हें घ’र से का’म की अ’नुमति दी जा’नी चा’हिए। इत’ना ही न’हीं 65 व’र्ष से अ’धिक आ’यु वा’ले लो’गों को घ’र से का’म करने के लि’ए प्रो’त्साहित कि’या जा’ए।

इस’के सा’थ ही आ’गे क’हा ग’या है कि ऑ’फिस में प’र्याप्त मा’त्रा में हैं’ड सैनि’टाइजर (बिना स्पर्श किए इ’स्तेमाल कि’या जा’ने वा’ला) और थ’र्मल स्क्री’निंग अ’निवार्य हों’गे। इस’के सा’थ गा’इडलाइंस में क’हा ग’या है कि जि’न कर्म’चारियों को पि’क एं’ड ड्रा’प की सुवि’धा मि’ली है उ’न लो’गों को पि’क एं’ड ड्रॉ’प के दौरा’न ऐ’सी ब’स या दूस’रे वा’हन उ’पलब्ध क’राएं जा’एं जो आ’कार में ब’ड़े हों औ’र इन’में कु’ल क्ष’मता के मुका’बले सि’र्फ 30-40 प्रति’शत क’र्मचारी को बैठा’या जा’ये। पू’री ब’स न भ’रें।

जा’री गा’इडलाइंस में क’हा ग’या है कि सी’ढ़ियों के इस्तेमा’ल को प्रो’त्साहित कि’या जा’ना चा’हि। लि’फ्ट का इस्ते’माल करने के दौ’रान एक स’मय में 2 से 4 लो’गों से ज्या’दा की अनु’मति न’हीं दी जा’नी चा’हिए।

दि’शानिर्देश में य’ह भी ब’ताया ग’या है कि 5 व’र्ष से क’म उ’म्र के ब’च्चों के मा’ता-पि’ता में से अ’गर दो’नों अ’गर का’म क’रते हैं तो उ’न्हें घ’र से का’म की अनु’मति दी जा’नी चा’हिए। इ’तना ही न’हीं 65 व’र्ष से अ’धिक आ’यु वा’ले लो’गों को घ’र से का’म क’रने के लि’ए प्रो’त्साहित कि’या जा’ए।

इस’के सा’थ ही आ’गे क’हा ग’या है कि ऑ’फिस में प’र्याप्त मा’त्रा में हैं’ड सै’निटाइजर (बि’ना स्प’र्श किए इस्तेमा’ल कि’या जा’ने वा’ला) औ’र थ’र्मल स्क्री’निंग अनि’वार्य हों’गे। इस’के सा’थ गा’इडलाइंस में क’हा ग’या है कि जि’न क’र्मचारियों को पि’क एं’ड ड्रा’प की सुवि’धा मि’ली है उ’न लो’गों को पि’क एं’ड ड्रॉ’प के दौ’रान ऐ’सी ब’स या दूस’रे वा’हन उ’पलब्ध क’राएं जा’एं जो आ’कार में ब’ड़े हों और इ’नमें कु’ल क्ष’मता के मुका’बले सि’र्फ 30-40 प्रतिश’त क’र्मचारी को बै’ठाया जाये। पूरी ब’स न भ’रें।