Categories
Other

क्या नोटों के जरिए फैलाया जा रहा है कोरोना वायरस? जानिए क्या है इसका पूरा सच

इस समय पूरा देश कोरोना के कहर से जुझ रहा है तो परिस्थिति में ऐसे में कुछ लोग भी हैं जो देश में दहशत फैलाने से बाज नहीं आ रहे हैं. आपको बता दें कि देश के कई हिस्सों में नोट गिरे हुए मिल रहे हैं. जिसको लेकर लोगों के ध्यान में तरह-तरह के विचार आ रहे हैं. वैसे तो कहीं जमीन पर पैसे गिरे मिलें तो लोग उसे उठाने में नहीं हिचहिकाते है. लेकिन मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में जमीन पर पड़े नोटों को देखकर आस-पास के लोग दहशत में आ गए.

आपको बता दें कि कल सुबह खंडवा शहर के बीचों बीच मौजूद घंटाघर इलाके में जमीन पर कुछ नोट पड़े मिले. जिसको देख वहां के लोगों में अफरातफरी मच गई. साथ ही ये अफवाह भी उड़ाई गई कि ये पैसे कोरोना संक्रमण फैलाने के लिए फेके गए हैं. जिसके बाद फौरन इसकी जानकारी स्थानीय पुलिस प्रशासन को दी गई. मौके पर पहुंची पुलिस ने भी बेहद सावधानी से इन रुपयों को कब्जे में लिया. उन जगहों को सेनिटाइज किया गया जहां नोट पड़े थे.

जानकारी के लिए बता दें कि पुलिस प्रशासन अभी इन नोटों की जांच में जुटा ही था कि खंडवा के ही एक दूसरे इलाके दीनदयाल पुरम में भी ऐसे ही जमीन पर नोट फेंके जाने की सूचना मिली. अब इन नोटों को कोरोना जांच के लिए लैब में भेज दिया है. इस तरह नोटों के मिलने का सिलसिला मध्य प्रदेश के साथ-साथ कई राज्यों में जारी है.

इसी तरह झारखंड के रामगढ़ में भी जमीन पर गिरी हुई नोटों को देखकर लोग दहशत में आ गए और तरह-तरह की अटकलें लगाने लगे. सवाल ये है कि कोरोना काल में सड़कों पर पैसे कौन फेक रहा है. क्या ये लोगों को डराने की साजिश है या इसके पीछे मकसद कुछ और है?