Categories
Other

बाजार में घटे प्याज के दाम से व्यापारियों की बढ़ने लगी धड़कनें

देश की सबसे बडी मंडी लासलगाव में सोमवार को प्याज के दाम में भारी गिरावट देखी गई है. सोमवार को मतलब 9 दिसंबर को लाल प्याज के दाम का अधिकतम मूल्य प्रतिक्विंटल के लिए 5700 रुपए था. तो औसत मूल्य 4200 रुपए था. वहीं छोटे प्याज को कम से कम 2100 रुपए प्रति क्विंटल दाम मिला है. सरकार की तरफ से उठाए गए कदम के चलते ही प्याज के होलसेल दाम में भारी गिरावटी देखी गई. लासलगाव एपीएमसी मार्केट की चेअरमन सुवर्णा जगताप के मुताबीत सरकार के प्याज के दाम नियंत्रण में लाने के लिए किए गए फैसलों से ही होलसेल मार्केट में दाम गिरे है.

घटे दाम से प्याज उत्पादक किसान चिंता में है. लासल गाव मंडी में 5 हजार 248 प्रतिक्विंटल प्याज की आवक हुई है. लासलगाव में शुक्रवार को लाल प्याज के दाम प्रतिक्विंटल 9900 रुपए प्रतिक्विंटल के था. और 3 हजार 274 क्विंटल लाल प्याज की आवक हुई थी. पिछले सप्ताह लाल प्याज का औसत मुल्य प्रतिक्विंटल 7000 था.

लासलगाव एपीएमसी मंडी कि चेअरमन सुवर्णा जगताप ने बताया है कि, प्याज के बढ़ते दाम के बाद सरकार ने ये कदम उठाए है. तुर्की से इक्कीस हजार मेट्रीक टन प्याज आयात करने का निर्णय लिया है. होलसेस व्यापरीयों के लिए 25 मेट्रीक टन प्याज और रिटेल व्यापारी के लिए 5 मेट्रीक टन प्याज स्टोअरेज करेन की अनुमती दि गई है. व्यापारियों के लिए प्याज की स्टॉक लिमिट तैय होने के कारण मंडी में आवक बढ़ी है. साथ ही गुजरात , मध्यप्रदेश , राजस्थान, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश से प्याज लासलगाव मंडी में पहुचां है.

गोदाम पर सरकार के सक्ती के चलते व्यापारीयों ने भी प्याज को मंडियो में भेंजना उचित समझा. जिससे आवक बढ़कर लासलगाव मंडी में प्याज के दाम घटे है .वहीं प्याज उत्पादक किसान रामनाथ आहेर का कहना है कि केंद्र सरकार ने प्याज के दाम नियंत्रण में लाने के लिए जो उपाय कर रही है , जिसकी वजह से होलसेल मार्केट में प्याज के दाम गिर रहे है. केंद्र सरकार को प्याज उत्पाद किसानों के बारे में सोचना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.