Categories
Other

जानिए प्याज काटते समय आंखों से आंसू क्यों आते हैं?

प्याज काटते समय आंसू क्यों आते हैं? बहुत से लोग इस बारे में जानना चाहते है. प्याज एक ऐसी सब्जी है जिसके बिना खाना अधुरा होता है. जब भी हम प्याज को खाने में इस्तेमाल करते हैं तो उसे हम को काटना पड़ता है और जब हम प्याज को काटते हैं तो हमारू आंखों से आंसू निकलने लगते हैं साथ ही आंखों में जलन होने लगती है. तो ऐसा दोस्तों सिर्फ प्याज के साथ ही क्यों होता है जबकि सब्जियों में सबसे तीखी चीज मिर्ची को काटते वक्त भी आंख में आंसू नहीं आते है. तो इसके पीछे का कारण क्या हैं.

आइये जानते हैं प्याज काटते समय हमारी आँखों से आंसू क्यों निकलने लगते हैं. भले ही प्याज कितने भी महंगे हो जाएँ लेकिन बिना प्याज के सब्जी अच्छी नहीं लगती है लेकिन प्याज स्वाद देने से पहले हमें बहुत रुलाता भी है.

जब भी प्याज काटते हैं तो वो हमारी आँखों में पानी ले आता है. लेकिन क्या आपने कभी सोचा है की प्याज काटने पर आंसू क्यों आते हैं और आंखों में जलन क्यों होती है जबकि किसी और सब्जी यहाँ तक की मिर्ची को काटने पर भी आँखों में आंसू नहीं आते ऐसा क्यों होता है? चालिए आज हम आपको बताते है प्याज काटने से आंखों में आंसू क्यों औ जाते है

आपको बता दें कि दोस्तों दरअसल प्याज में एक साइन-प्रोपेंथियल-एस-ऑक्साइड नामक रसायन पाया जाता है जो की प्याज काटते समय हमारी आँखों की लेक्राइमल ग्लैंड को उत्तेजित करता है और इस वजह से आँखों में आंसू आ जाते हैं.

पहले वैज्ञानिकों को लगता था की ऐसा प्याज में मौजूद एलीनेस नामक एंजाइम के कारण होता है लेकिन शोध के बाद ये पाया गया है कि इसमें “लेक्राइमेट्री-फैक्टर सिंथेस नामक एंजाइम पाया जाता है और प्याज काटते समय इसमें से ये लेक्राइमेटरी-फैक्टर सिंथेस एंजाइम निकलता है.

ये एंजाइम प्याज के अमीनो एसिड को सल्फेनिक एसिड में बदल देता है और साथ ही सल्फेनिक एसिड, साइन-प्रोपेंथियल-एस-ऑक्साइड में बदल जाता है.

जब ये साइन-प्रोपेंथियल-एस-ऑक्साइड हवा के माध्यम से हमारी आँखों के संपर्क में आता है तो इसके कारण हमारी आँखों की लेक्राइमल ग्लैंड में परेशानी होती है और इससे आँखों में जलन और आंसू आने लगते हैं.

लेकिन दोस्तों अगर आप चाहें तो प्याज काटने से पहले कुछ छोटे-छोटे उपाये करके इस परेशानी से बच सकते हैं.

1. प्याज को ठंडा करके काटें
प्याज का छिलका उतार लीजिए. उसके बाद उसे कुछ देर के लिए पानी में डूबोकर छोड़ दें. आधे घंटे बाद फिर उस प्याज काटें. ऐसा करने से आंखों में जलन नहीं होगी. लेकिन पानी में रखने की वजह से प्याज चिपचिपा हो जाएगा. ऐसे में दोस्तों पूरी सावधानी से प्याज को काटें.

2. विनेगर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं
दोस्तों आप चाहें तो प्याज को छिलकर कुछ देर के लिए विनेगर और पानी में डूबोकर रख सकते हैं. ऐसा करने से भी आंखओं में आंसू नहीं आएंगे.

3. फ्रिज में रखने के बाद काटना
प्याज का छिलका उतारने के बाद उसे कुछ समय के लिए फ्रिज में रख दें. उसके बाद प्याज काटें. हालांकि ये तरीका बहुत अधिक प्रचलित नहीं है क्योंकि ऐसा करने से फ्रिज में बदबू फेल जाती है.

4. प्याज के ऊपरी हिस्से को काट दें
प्याज काटने का सबसे सही तरीका ये है कि हम प्याज के सबसे ऊपरी हिस्से को पहले काटकर निकाल दें. ऊपरी हिस्से को काट देने के बाद प्याज काटना काफी आसान हो जाता है और आंखों से आंसू भी नहीं निकलते. तो दोस्तों ये है कारण जिसकी वजह से प्याज काटते समय आंसू निकलते है।

दोस्तों अगर आपको ये जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों और जानने वालों के साथ भी शेयर करें और अपने सुझावों को हमें कमेंट बॉक्ट में लिखकर भेंजे ताकि हम अन्य महत्त्वपूर्ण विषयों पर अच्छी वीडियो बनाकर आपको अहम जानकारियों प्राप्त करा सकें।


Leave a Reply

Your email address will not be published.