Categories
Other

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में न शामिल करने को लेकर ओवैसी ने मोदी पर किया हमला, कहा- विपक्षी दलों से…

देश में रोज़ाना बढ़ते कोरोना के मामले को देखते हुए और महामारी से लड़ने पर अपने विचारों रखने के लिए 8 अप्रैल को प्रधानमंत्री मोदी लोकसभा और राज्यसभा के फ्लोर लीडर्स के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करेंगे. वो कोरोना को लेकर सभी नेताओं से बातचीत करेंगे.

आपको बता दें कि जिन पार्टियों के लोकसभा और राज्यसभा में 5 से ज्यादा सांसद हैं उन दलों के फ्लोर लीडर्स के साथ पीएम मोदी 8 अप्रैल को बात करेंगे. जानकारी के लिए बता दें कि इस लीडर्स में असदुद्दीन ओवैसी का नाम नहीं है. आइए आपको बताते है इस सब को लेकर अब ओवैसी ने क्या कहा है.

कल AIMIM  के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने AIMIM के प्रतिनिधि को 8 अप्रैल की बैठक का हिस्सा नहीं लेने दिया. ये हैदराबाद और औरंगाबाद के लोगों का अपमान है. असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट किया कि क्या हैदराबाद के लोगों में इंसानियत कम है क्योंकि उन्होंने AIMIM के लिए वोट दिया.

ओवैसी ने ट्वीट किया,”क्या हैदराबाद के लोगों में इंसानियत कम है क्योंकि उन्होंने AIMIM के लिए वोट दिया. प्रधानमंत्री जी यह हैदराबाद और औरंगाबाद के लोगों की तौहीन है.कृपया बताएं कि वे आपकी तरफ से ध्यान देने योग्य क्यों नहीं हैं? सांसदों के रूप में, यह हमारा काम है कि आप हमारे लोगों के आर्थिक और मानवीय दुख का प्रतिनिधित्व करें. “

महामारी से लड़ने पर अपने विचारों रखने के लिए प्रधानमंत्री के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए चर्चा न बनाए जाने पर दुख जाहिर करते हुए ओवैसी ने कहा, ”हैदराबाद और औरंगाबाद के लोगों ने मुझे और इमतियाज जलील को चुना ताकि हम उनके मुद्दों को उठाएं. अब हमें वो मौका ही नहीं दिया गया. हैदराबाद में 93 सक्रिय COVID -19 मामले हैं, मैं अपने विचारों को सामने रखना चाहता हूं कि हम इस महामारी से कैसे लड़ सकते हैं और उन क्षेत्रों की पहचान कर सकते हैं जहां हमारी कमी है. “