Categories
News

अभी अभी भी’ष’ण धमाके से द’ह’ला यूपी, कई के उड़ गए चिथड़े, 10 घायल…..

खबरें

चिनहट में देवा रोड के पास बीआर दुबे एंक्लेव में बुधवार को केटी वेल्डिंग स्टोर ऑक्सीजन लिक्विड प्लांट में अचानक वि’स्फो’ट हो गया। भी’ष’ण वि’स्फो’ट में तीन लोगों की मौ’त हो गई, जबकि छह लोग घा’यल हो गए। घा’यलों की हा’लत नाजुक है, जिनका लोहिया अस्पताल और ट्रामा सेंटर में इलाज चल रहा है। पु’लि’स आयुक्त डीके ठाकुर के मुताबिक अब तक छानबीन में सामने आया है कि सिलिंडर में ऑक्सीजन भरते समय वि’स्फोट हुआ था। जिस सिलिंडर में गैस भरा जा रहा था, उसमें खराबी की बात सामने आई है।

स्थानीय लोगों के मुताबिक प्लांट के बाहर करीब 50 से अधिक लोग सिलिंडर लेकर ऑक्सीजन भरवाने आए थे। प्लांट का कर्मचारी एक सिलिंडर में ऑक्सीजन भर रहे थे। इसी बीच अचानक सिलिंडर फट गया। हा’द’से में प्लांट में काम करने वाले बाराबंकी निवासी त्रिभुवन यादव और अरुण पांडेय की मौत हो गई वहीं, सिलिंडर भरवाने आए तीमारदार विकासनगर निवासी दीपू कनौजिया भी वि’स्फो’ट की च’पे’ट में आ गए। गंभीर रूप से घायल होने के कारण दीपू की भी मौ’त हो गई।

यही नहीं वहां मौजूद बाराबंकी निवासी अंकुर सिंह, फतेहपुर निवासी आशीष कुमार, सीतापुर निवासी नीरज, अयोध्या निवासी राजबली और विकासनगर निवासी आकाश यादव और पवन शामिल हैं। पु’लि’स के मुताबिक अंकुर के दोनों पैर में गंभीर चोट है। वहीं, आशीष कुमार के बाएं पैर, हाथ व जांघ में, नीरज के आंख व पैर में, राजबली के बाएं हाथ व में और आकाश के दाएं कंधे में गंभीर चोट हैं। सिलिंडर छोड़ भागे तीमारदार विस्फोट इतना तेज था कि प्लांट की छत का हिस्सा उड़ गया। कई सिलिंडर छिटक के दूर जा गिरे। लाइन में लगे तीमारदारों में भ’गद’ड़ मच गई, जिसमें कई लोग मामूली रूप से घायल हो गए।

आसपास के मकान में रहने वाले लोग भी घरों से बाहर निकल आए। ऑक्सीजन भराने आए लोग सिलिंडर छोड़कर भाग निकले। इस बीच बड़ी संख्या में पुलिस बल वहां पहुँची और भीड़ को प्लांट से दूर किया।म’लबा हटाकर घायलों को निकाला पु’लिस जब प्लांट में पहुँची तो वहां चीख पुकार मची हुई थी। ऑक्सीजन सिलिंडर और मलबे के नीचे कर्मचारी व तीमारदार दबे हुए थे। पु’लिस ने रेस्क्यू अभियान शुरू कर लोगों को मलबे से बाहर निकाला। इस दौरान वहां का दृश्य भ’या’वह था। हर तरफ खू’न के छींटे थे और मानव अंग भी बिखरे हुए थे। पु’लि’स जीप और एम्बुलेंस में ग़लों को लादकर लोहिया अस्पताल भेजा गया, जहां डॉक्टरों ने तीन लोगों को मृ’त घो’षित कर दिया। वहीं, गंभीर घाय’लों को ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया। पु’लिस व दमकल विभाग की टीम घ’ट’ना स्थल पर सा’क्ष्य सं’क’लन कर रही है।