Categories
Other

कैंसल हुआ नित्यानंद का पासपोर्ट

सरकार ने शुक्रवार को ‘स्वघोषित गुरु’ नित्यानंद का पासपोर्ट कैंसल कर दिया है, साथ ही नए पासपोर्ट के निवेदन को भी नकार दिया है. यह बात विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताई है. इसके अलावा भारत में इक्वाडोर के राजदूत ने उन सब खबरों को पूरी तरह खारिज कर दिया है, जिनमें इक्वाडोर की सरकार ने नित्यानंद के शरण देने की बात कही जा रही है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि हमने अपने सभी दूतावासों को इस संबंध में बोल दिया है कि ये व्यक्ति कई आपराधिक मामलों में जुड़ा है. हमने अपने सभी दूतावासों से स्थानीय सरकारों को सूचित करने को कहा है. वहीं भारत स्थित इक्वाडोर के दूतावास ने भी प्रेस वार्ता जारी करके कहा कि, जहां कहीं भी इस तरह की खबरें छापी गई हैं कि इक्वाडोर की सरकार ने स्वघोषित गुरु नित्यानंद को शरण दी है या कोई जमीन खरीदने में कोई मदद की है, इस तरह की सभी खबरें गलत हैं.

वार्ता में दूतावास ने आगे कहा कि, ‘इक्वाडोर ने नित्यानंद के शरण के निवेदन को ठुकरा दिया है, जिसके बाद नित्यानंद ने इक्वाडोर छोड़ दिया.’ बताया गया है कि मीडिया में जहां कहीं भी ऐसी खबरें हैं उनका आधार नित्यानंद की वेबसाइट kailaasa.org है. इस वेबसाइट का संचालन नित्यानंद या उनके लोगों द्वारा किया जाता है. आपको बता दें कि नित्यानंद की वेबसाइट पर कहा गया था कि नित्यानंद ने कथित तौर पर दक्षिण अमेरिकी देश इक्वाडोर से एक द्वीप खरीद कर अपना एक देश बसा लिया है. यही नहीं इस वेबसाइट पर देश की नागरिकता, पासपोर्ट समेत तमाम जानकारियां दी हैं।

साथ ही गुजरात पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि हमने नित्यानंद का पता लगाने के लिए नोटिस जारी करने के संबंध में सीआईडी को पत्र भेजा है. गौरतलब है कि ब्लू कॉर्नर नोटिस सदस्य देशों को इस बात के लिए बाध्य करता है कि वह अपराध में लिप्त किसी व्यक्ति का पता ठिकाना साझा करे।