Categories
Other

पेन के ढक्कन के ऊपर इस वजह से होता है छेद, जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान

पेन के ढक्कन के ऊपर क्यों होता है होल? लिखने के लिए हम सभी बचपन से अब तक पेन का इस्तेमाल करते आ रहे हैं. आज के दौर में मुश्किल से ही कोई शख्स ऐसा होगा जिसने अब तक पेन का इस्तेमाल नहीं किया है. लेकिन पेन एक ऐसी चीज है जिसका इस्तेमाल आज के जमाने में पहले से कम हो गया है लेकिन पहले इसका इस्तेमाल नियमित रूप से किया जाता था.

दोस्तों हम लिखने के लिए पेन का यूज करते हैं. लगभग हर बॉलपेन में कैप लगा होता है. पेन का इस्तेमाल करते वक्त आप लोगों ने इस बात पर जरूर गौर फरमाया होगा कि सभी पेनों के ढक्कन या कैप में एक छेद जरूर होता है. लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि पेन की कैप या पेन के लास्ट प्वाइंट पर छेद क्यों होता? शायद ही किसी को पता हो कि ये छेद होता क्यों है?

आइए आपको बताते है कि पेन की कैप में छेद क्यों है? एक आम अवधारणा के अनुसार लोग ये मानते हैं कि पेन के ढक्कनों में छेद इसलिए दिया जाता है ताकि पेन के निब की इंक ना सूखे. लेकिन दोस्तों हम इस बात को सही नहीं मान सकता क्योंकि इस तथ्य को इंक सूखने और न सूखने दोनों ही अवधारणा में बताया जा सकता है. तो फिर शायद ये वो कारण नहीं है जिस वजह से ये छेद पेन के कैप में या निचले हिस्से में दिया जाता है.

एक और अवधारणा ये है दोस्तों कि ये छेद पेन के बंद होने और खुलने पर वायु के दबाव को सामान रूप से बनाए रखता है. मगर ये बात भी सिर्फ उन पेन में सही बैठती है, जिन के ढक्कन दबा के बंद होते हैं, घुमा के बंद होने वाले पेन में ये बात तर्क संगत नहीं लगती है.

आपको बता दें दोस्तों कि इसका मूल कारण है कि पेन को ढक्कन समेत कुछ लोग अपने मुंह में डाल लेते हैं खासकर कि छोटे बच्चे. दरअसल, दोस्तों अक्सर बच्चे पेन से लिखते समय कैप को मुंह में फंसा लेते हैं या लिखने के दौरान वे उस कैप को चबाते रहते हैं. 

ऐसे में वे कभी-कभार गलती से कैप को निगल जाते हैं और वो कैप श्वासनली में जाकर फंस जाता है. अगर ये गलती से मुंह में चला जाए और अगर इसमें छेद न हो, तो हवा पास नहीं होगी, जो कि ये घातक साबित हो सकती है और जान भी जा सकती है.

इसी वजह से पेन के निर्माताओं ने इसके ढक्कन में एक छेद रखा है जिस वजह से अगर कोई बच्चा या बड़ा इसको निगल भी जाये तो उससे जान जाने का खतरा कुछ हद तक कम हो सकता है. मान लीजिए कभी कोई इंसान गलती से पेन के कैप को गटक जाए. फिर क्या होगा पेन जाकर उसके गले में फंस जाएगा. कहां पर? सांस लेने वाली नली में. वो नली बहुत संकरी होती है. पतली सी होती है. तो ढक्कन फंसने पर इंसान सांस नहीं ले पाएगा और दम घुटने से मर जाएगा.  ये छेद पेन के निचले भाग या कैप दोनों पर होता है.

आपको बता दें दोस्तों किअमरीका में हर साल इसी के चलते लगभग 100 बच्चों की मौत हो जाती है. दोस्तों सुरक्षा की दृष्टि को ध्यान में रखते हुए ऐसा किया जाता है. अगली बार से जब भी आपसे कोई इस बारे में पूछे या आप ऐसा देखें तो लोगों को इस बारे में जरूर बताए और उन्हें उचित जानकारी दें।

56 replies on “पेन के ढक्कन के ऊपर इस वजह से होता है छेद, जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान”

It’s actually a great and useful piece of info. I’m glad that you simply
shared this useful information with us. Please keep us informed like
this. Thank you for sharing.

This is very interesting, You’re an excessively skilled blogger.

I have joined your feed and sit up for in quest of extra of your
magnificent post. Also, I’ve shared your site in my social networks

I know this if off topic but I’m looking into starting my
own weblog and was curious what all is required to get set
up? I’m assuming having a blog like yours would cost a pretty penny?
I’m not very web smart so I’m not 100% positive.
Any suggestions or advice would be greatly appreciated.

Thanks

This is a great tip particularly to those fresh to the blogosphere.
Short but very precise info… Appreciate your sharing this one.
A must read post!

Hi, I think your blog might be having browser compatibility issues.
When I look at your website in Safari, it looks fine but when opening in Internet Explorer, it
has some overlapping. I just wanted to give you a quick heads up!
Other then that, excellent blog!

My blog post Georgianna

Leave a Reply

Your email address will not be published.