Categories
Other

कोरोना को लेकर पीएम मोदी ने सोनिया, ममता, मनमोहन, प्रतिभा पाटिल जैसे दिग्गज नेताओं को फोन लगाकर की बात

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का खतरा बना हुआ हैं. सबसे ताकतवर देश भी इस वायरस का कोई इलाज खोज नहीं पा रहे है. अधिकतर सभी देश लॉकडाउन हो चुके हैं. भारत में भी कोरोना वायरस के मामले दिन पर दिन बढ़ते ही जा रहे है. आपको बता दें कि अब तक भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 3378 हो चुकी है.

देश में फैली कोरोना वायरस की महामारी पर सरकार की तैयारियों को लेकर प्रधानमंत्री अलग-अलग लोगों से लगातार बात कर रहे हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रतिभा पाटिल से बात की. इसके साथ ही उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और एचडी देवगौड़ा से भी इस विषय पर चर्चा की. पूर्व राष्ट्रपति और पूर्व प्रधानमंत्रियों के अलावा नरेंद्र मोदी ने अलग-अलग पार्टियों के नेताओं से भी चर्चा की. आपको बता दें कि इन नेताओं में सोनिया गांधी, मुलायम सिंह, अखिलेश यादव, ममता बनर्जी, नवीन पटनायक, के चंद्रशेखर राव, स्टालिन और प्रकाश सिंह बादल के नाम शामिल हैं.

आपको बता दें कि कोरोना वायरस की महामारी को लेकर प्रधानमंत्री अलग-अलग लोगों से लगातार बात कर रहे हैं. इसी सब को लेकर उन्होंने आज पूर्व राष्ट्रपति, पूर्व प्रधानमंत्री और अलग-अलग पार्टी के नेताओं से चर्चा की. फिलहाल देश इस कोरोना वायरस की महामारी से कैसे जूझ रहा है और सरकार की इसके खिलाफ क्या तैयारियां हैं, इस पर उनकी चर्चा हुई.

आपको याद दिला दें कि इससे पहले भी पीएम नरेंद्र मोदी  ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों से भी 2 अप्रैल को बात की थी. मुख्यमंत्रियों से बात करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि हम कोशिश कर रहे हैं कि राज्य सरकारों से बेहतरीन समन्वय स्थापित किया जा सके, क्योंकि कोरोना की लड़ाई हम सबको मिलकर लड़नी है. केंद्र सरकार हर कदम पर राज्य सरकार का साथ देगी. उन्होंने राज्यों के मेडिकल सुविधाओं के बारे में भी जानकारी ली थी. इसके साथ ही क्वारनटीन सेंटर की हालत की विस्तृत रिपोर्ट ली थी.

जानकारी के लिए बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार बैठकें कर रहे हैं. कल उन्होंने कोरोना वायरस को लेकर अलग-अलग टीमों से बातचीत की. पीएम मोदी ने अस्पताल और आइसोलेशन की क्या सुविधा है इसके बारे में जाना. उन्होंने मेडिकल स्टाफ का पूरा ध्यान रखने का भी निर्देश दिया और कहा कि उनको किसी चीज की कमी नहीं हो।