Categories
Other

प्रियंका गांधी के भगवा वाले बयान पर CM योगी ने किया जोरदार पलटवार

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के बयान पर पलटवार किया जिसमें उन्होंने मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी ट्वीट में कहा कि संन्यासी की लोक सेवा और जन कल्याण के निरंतर जारी यज्ञ में जो भी बाधा उत्पन्न करेगा उसे दंडित होना ही पड़ेगा. विरासत में राजनीति पाने वाले और देश को भुलाकर तुष्टिकरण की राजनीति करने वाले लोक सेवा का अर्थ क्या समझेंगे?

दूसरे ट्वीट में मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से लिखा कि सब कुछ त्याग कर सीएम योगी ने भगवा लोक सेवा के लिए धारण किया है. वो लोग न केवल भगवा धारण करते हैं, बल्कि उसका प्रतिनिधित्व भी करते हैं. भगवा वेशभूषा लोक कल्याण और राष्ट्र निर्माण के लिए है और योगी जी उस पथ के पथिक हैं.’

यूपी की राजधानी लखनऊ के 4 दिवसीय दौरे पर पहुंची प्रियंका गांधी ने अपने दौरे के अंतिम दिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर जमकर निशाना साधा. प्रियंका गांधी ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भगवा धारण किया है. ये भगवा उनका नहीं है

आपको बता दें कि लखनऊ में प्रियंका गांधी वाड्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लेकर कहा था कि “मुख्यमंत्री ने भगवा रंग धारण किया है. भगवा उनका निजी रंग नहीं है बल्कि ये रंग भारत की परंपरा का प्रतीक है. हमारी परंपरा में बदला या हिंसा का कोई स्थान नहीं है”. जिसको लेकर योगी के कार्यालय ने जोरदार पलटवार किया गया है. 

भगवा हिंदुस्तान की आध्यात्मिक संस्कृति और हिन्दू धर्म का प्रतीक है. कृष्ण, राम और शिव के देश में हिंसा और बदले की जगह नहीं है. महाभारत में भी कृष्ण ने रण क्षेत्र में बदला लेने की बात नहीं की. बदले की भावना इस देश की परंपरा नहीं रही है. ये देश प्रेम, करुणा और अहिंसा की बात करता है. प्रियंका गांधी ने कहा कि ये बात हमारे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को समझनी चाहिए.


97 replies on “प्रियंका गांधी के भगवा वाले बयान पर CM योगी ने किया जोरदार पलटवार”

Hey! This is my 1st comment here so I just wanted to give a
quick shout out and tell you I genuinely enjoy reading your blog posts.
Can you recommend any other blogs/websites/forums that cover the same topics?
Thanks for your time! 0mniartist asmr

Leave a Reply

Your email address will not be published.