Categories
News

नि’र्भया को इं’साफ दि’लाने वा’ली सी’मा ल’ड़ेगी हा’थरस पी’ड़िता का के’स, क’ही ये ब’ड़ी बा’त…..

हिंदी खबर

नि’र्भया का के’स ल’ड़ने वा’ली व’कील सी’मा सं’वृद्धि हा’थरस के लि’ए रवा’ना हो ग’ई हैं. हा’थरस की पी’ड़िता को न्या’य दि’लाने के लि’ए सी’मा ने उस’का के’स फ्री ऑ’फ कॉ’स्ट लड़’ने का फै’सला कि’या है. हा’थरस में वो पी’ड़ित परि’वार से मि’लने और बा’त क’रने जा र’ही है. सी’मा की पी’ड़ित परि’वार से फ़ो’न पर बा’त हु’ई है.

इ’स बी’च सुप्री’म को’र्ट में ए’क जन’हित या’चिका दा’खिल की ग’ई है. जन’हित या’चिका में मा’मले की जां’च कें’द्रीय जां’च ब्यू’रो (सी’बीआई) या ए’सआईटी से क’राने की मां’ग की ग’ई है. या’चिका में जां’च की नि’गरानी सु’प्रीम को’र्ट या हाई’कोर्ट के वर्त’मान या रिटा’यर्ड न्याया’धीश से करा’ने की मां’ग भी की ग’ई है.

जन’हित या’चिका सामा’जिक का’र्यकर्ता स’त्यम दु’बे, अ’धिवक्ता वि’शाल ठाक’रे औ’र रु’द्र प्रता’प याद’व ने दा’यर की है. चि’काकर्ताओं ने शी’र्ष अदा’लत से नि’ष्पक्ष जां’च के लि’ए उचि’त आदे’श पारि’त क’रने का आ’ग्रह कि’या है औ’र सा’थ ही अ’पील की है कि या तो इ’स मा’मले की जां’च सी’बीआई से क’राई जा’ए या ए’सआईटी द्वा’रा इस’की जां’च हो.

या’चिका में क’हा ग’या है कि जां’च की निग’रानी सु’प्रीम को’र्ट या हाई’कोर्ट के व’र्तमान या रि’टायर्ड न्याया’धीश से करा’ई जा’नी चा’हिए. इस’के अला’वा ज’नहित या’चिका में क’हा ग’या है कि उ’त्तर प्रदे’श में माम’ले की जां’च औ’र ट्राय’ल निष्प’क्ष न’हीं हो पा’एगा, इस’लिए इ’स मा’मले को दि’ल्ली स्था’नांतरित कि’या जा’ना चा’हिए.

या’चिका में क’हा ग’या है कि पीड़ि’ता के सा’थ प’हले दु’ष्कर्म कि’या ग’या औ’र फि’र बेर’हमी से मार’पीट की ग’ई औ’र ए’क मेडि’कल रि’पोर्ट के अ’नुसार, उस’की जी’भ क’टी हु’ई थी औ’र उस’की ग’र्दन औ’र पी’ठ की ह’ड्डियां आ’रोपियों ने तो’ड़ दीं, जो उ’च्च जा’ति के थे। इ’सके बा’द पीड़ि’ता ने दि’ल्ली के सफ’दरजंग अस्पता’ल में द’म तो’ड़ दि’या.