Categories
News

अभी अभी आम आदमी को लगा बड़ा झट’का, मोदी सरकार नें बन्द किया राशनकार्ड………

खबरें

गरीबों को मिलने वाला मुफ्त अनाज, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत शुरू की गई थी। यह योजना अब अब बंद होने जा रही है। यह योजना देश में लॉ’कडाउ’न के लागू होने के समय में चलाई गयी थी जिसमें सरकार की तरफ से तकरीबन 81 करोड़ राशन कार्डधारकों को मुफ्त में अनाज बांटा जा रहा है।

योजना अब 30 नवंबर को समाप्त
बता दें कि यह योजना खासकर प्रवासी मजदूरों और गरीब लोगों के लिए शुरू की गई थी। खाद्य, उपभोक्ता एवं सार्वजनिक वित’रण मा’मलों के मंत्रालय के सूत्रों से मिली जानकारी के मु’ताबिक इस यो’जना का डेट अब आगे नहीं बढ़ाया जाएगा। सरकार की मुफ्त में अनाज मुहै’या क’रवाने की यह योजना अब 30 न’वंबर को स’माप्त हो जाएगी। इस योजना के तहत लाभार्थियों को हर महीने पांच किलो गेहूं या चावल मुफ्त बांटा जा रहा था। अब 30 नवंबर को यह यो’जना स’माप्त हो जाएगी। इसे आगे जारी रखने के बारे में अभी तक कोई फै’सला नहीं लिया गया है।

इस योजना को अब आगे नहीं बढ़ाया जा’एगा
मं’त्रालय के एक अ’धिकारी कहते हैं, ‘इस योजना को अब आगे नहीं बढ़ाया जाएगा। हां, जिन लोगों ने किसी का’रणव’श राशन नहीं लिया है, उनके हिस्से का अनाज उन्हें फ्री में दिया जा सकता है। इसके साथ ही रा’ष्ट्रीय खा’द्य सुर’क्षा अधि’नि’यम के तहत सा’र्वजनि’क वि’तर’ण प्रणा’ली के लाभार्थियों को पहले की तरह कि’फाय’ती दरों में जो रा’शन मिलता था, वह मिलता आगे भी मि’लता रहेगा। पी’एम’जीके’एवा’ई के तहत मुफ्त राशन वितरण की योजना अब 30 नवंबर के बाद बंद कर दी जाएगी।

5 किलो गेहूं/चावल प्रति सदस्य और एक किलो चना मिलता था
इसी साल मार्च महीने में कोरो’ना म’हामा’री के वक्त वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रधानमंत्री गरीब क’ल्याण पै’केज के तहत प्र’धानमं’त्री गरीब कल्याण अन्न योजना का ऐ’लान किया था। इस योजना के तहत सभी गरीब परिवारों को जिनके पास राशन कार्ड है, और जिनके पास नहीं है, उन्हें 5 किलो गेहूं/चाव’ल प्रति स’दस्य और एक किलो चना अप्रैल से हर महीने मुफ्त दिया जा रहा है। यह मुफ्त अ’नाज राशन कार्ड पर मिलने वाले अनाज के मौजूदा कोटे के अतिरिक्त है।