Categories
Other

RJD के पूर्व मंत्री का हुआ निधन, शोक में डूबा पूरा राजनीतिक दल

महिषी के राजद विधायक सह बिहार सरकार में अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री रहे अब्दुल गफूर का दिल्ली स्थित एक अस्पताल में मंगलवार को निधन हो गया. विधायक के निधन से क्षेत्रवासियों में शोक की लहर है. डॉक्टर अब्दुल गफूर लिवर एवं किडनी के गंभीर बीमारी से ग्रसित थे. आपको बता दें उन्हें दिल्ली एम्स के बाद वापस पटना स्थित एक निजी अस्पताल में इलाज के लिए कुछ दिन पहले भर्ती कराया गया था.  

जिसके बाद तेजस्वी यादव ने बसंत कुंज में लिवर अस्पताल एसएलबीएस वसंत कुंज में एडमिट कराया था, जहां कल सुबह 6:00 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली थी. आपको बता दें कि उनके निधन के समय उनके बड़े पुत्र अब्दुल रज्जाक एवं एक दामाद मौजूद थे. वहीं उनकी पत्नी पटना विधायक निवास पर थी.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पूर्व मंत्री अब्दुल गफूर के निधन पर गहरी शाेक संवेदना व्यक्त की है और अपने शाेक संदेश में कहा कि वे एक प्रख्यात राजनेता एवं प्रसिद्ध समाजसेवी थे. उनके निधन से राजनीतिक एवं सामाजिक क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है।

मुख्यमंत्री ने ये भी कहा कि ईश्वर से प्रार्थना है कि वे उन्हें जन्नत में अहम मकाम अता करे और उनके परिवार वालाें काे इस अपूरणीय क्षति काे सहन करने की ताकत दें। साथ ही मुख्यमंत्री ने अब्दुल गफूर का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किये जाने की घोषणा की है। 

साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव, पूर्वमंत्री एवम विधायक तेजप्रताप यादव, राज्यसभा सांसद मीसा भारती ने विधायक एवम पूर्वमंत्री अब्दुल गफूर के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है और अपने शोक संदेश में कहा कि वे राजद एवम सामाजिक न्याय के मज़बूत स्तंभ थे। वे संवेदनशील सामाजिक एवम राजनीतिक कार्यकर्ता एवम राजनेता थे।उनके निधन से पूरा राजद परिवार दुखी, शोकाकुल एवम मर्माहत है।खुदा उनकी आत्मा को चिर शांति दे उन्हें जन्नते फिरदौश आता करे। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि उनके निधन से राजद ने एक समर्पित, जुझारू एवम हर दिल अज़ीज़ नेता को खो दिया है।