Categories
News

कैबिनेट मंत्री की शपथ लेते ही ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कर दी बड़ी गलती, पीएम मोदी ने लगी दी क्लास….

राजनीति

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार शाम 6 बजे कैबिनेट का सबसे बड़ा विस्तार किया है। 43 मंत्रियों को शपथ दिलाई जा रही है। इनमें नारायण राणे, सर्वानंद सोनोवाल के अलावा मध्य प्रदेश से ज्योतिरादित्य सिंधिया और वीरेंद्र कुमार समेत 15 ने कैबिनेट मंत्री की शपथ ली। शपथ लेने वाले 28 राज्य मंत्रियों में 7 महिलाएं हैं। मोदी के 8 साल के शासन में इस बार सबसे ज्यादा मंत्रियों को कैबिनेट में शामिल किया गया।

महाराज शपथ के बाद महामहिम को नमस्कार करना भूले
शपथ के दौरान एक दिलचस्प वाकया भी नजर आया। ज्योतिरादित्य शपथ लेने के बाद सीधे अपनी कुर्सी पर बैठ गए। जबकि, इससे पहले शपथ लेने वाले सभी मंत्रियों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को नमस्कार किया था। जब सिंधिया को याद दिलाया गया तो उन्होंने वापस जाकर कोविंद को नमस्कार किया।

ये बने कैबिनेट मंत्री

1. नारायण राणे

2. सर्बानंद सोनोवाल

3. वीरेंद्र कुमार

4. ज्योतिरादित्य सिंधिया

5. आरसीपी सिंह

6. अश्विनी वैष्णव

7. पशुपति कुमार पारस

8. किरण रिजिजू

9. राजकुमार सिंह

10. हरदीप सिंह पुरी

11. मनसुख मंडाविया

12. भूपेंद्र यादव

13. पुरुषोत्तम रूपाला

14. जी किशन रेड्डी

15. अनुराग ठाकुर

ये बने राज्य मंत्री

1. पंकज चौधरी

2. अनुप्रिया पटेल

3. सत्यपाल सिंह बघेल

4. राजीव चंद्रशेखर

5. शोभा करंदलाजे

6. भानुप्रताप सिंह वर्मा

7. दर्शना विक्रम जरदोश

8. मीनाक्षी लेखी

9. अन्नपूर्णा देवी

10. ए नारायण स्वामी

11. कौशल किशोर

12. अजय भट्ट

13. बीएल वर्मा

14. अजय कुमार

15. देवसिंह चौहान

16. भगवंत खुबा

17. कपिल मोरेश्वर पाटिल

18. प्रतिमा भौमिक

19. डॉ. सुभाष सरकार

20. भगवत कृष्ण राव कराड​​​​​​​

शपथ से पहले मोदी शाह ने ली क्लास
शपथ से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए बनने वाले मंत्रियों के साथ बैठक की। पीएम आवास पर हुई इस मीटिंग में ज्योतिरादित्य सिंधिया और सर्बानंद सोनोवाल सभी संभावित मंत्री शामिल हुए। मीटिंग में प्रधानमंत्री मोदी के साथ गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर नितिन गडकरी और भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष मौजूद थे।

नियमों के मुताबिक, मोदी मंत्रिमंडल में अधिकतम 81 मंत्री रह सकते हैं। अभी मंत्रिमंडल में कुल 53 मंत्री थे। इस लिहाज से 28 मंत्रियों के शामिल होने की गुंजाइश थी। 11 मौजूदा मंत्रियों के इस्तीफे के बाद मोदी 39 मंत्रियों को शामिल कर सकते हैं। आज जिन 43 मंत्रियों को शपथ दिलाई जाएगी, उनमें कुछ मौजूदा राज्यमंत्री भी हैं, जिन्हें कैबिनेट में प्रमोट किया जाएगा।

टीम मोदी के नए चेहरे

1. नारायण राणे

2. सर्बानंद सोनोवाल

3. वीरेंद्र कुमार

4. ज्योतिरादित्य सिंधिया

5. आरसीपी सिंह

6. अश्विनी वैष्णव

7. पशुपति कुमार पारस

8. किरण रिजिजू

9. राजकुमार सिंह

10. हरदीप सिंह पुरी

11. मनसुख मंडाविया

12. भूपेंद्र यादव

13. पुरषोत्तम रूपाला

14. जी किशन रेड्डी

15. अनुराग ठाकुर

16. पंकज चौधरी

17. अनुप्रिया पटेल

18. सत्यपाल सिंह बघेल

19. राजीव चंद्रशेखर

20. शोभा करंदलाजे

21. भानुप्रताप सिंह वर्मा

22. दर्शना विक्रम जरदोश

23. मीनाक्षी लेखी

24. अन्नपूर्णा लेखी

25. ए नारायण स्वामी

26. कौशल किशोर

27. अजय भट्ट

28. बीएल वर्मा

29. अजय कुमार

30. देवसिंह चौहान

31. भगवंत खूबा

32. कपिल पाटिल

33. प्रतिमा भौमिक

34. सुभाष सरकार

35. भगवत कृष्ण राव कराड़

36. राजकुमार रंजन सिंह

37. भारती प्रवीण पवार

38. विश्वेश्वर टुडू

39. शांतनु ठाकुर

40. महेंद्र भाई मुंजापारा

41. जॉन बारला

42. एल मुरुगन

43. नीतीश प्रामाणिक

12 मंत्रियों ने इस्तीफा दिया
विस्तार से पहले पुराने मंत्रियों के इस्तीफे का सिलसिला भी शुरू हो गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने इस्तीफा दे दिया है। माना जा रहा है कि देश में कोरोना की दूसरी लहर के वक्त चरमराई स्वास्थ्य सेवाएं उनके इस्तीफे की वजह बनीं। इधर, केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री थावरचंद गहलोत ने मंगलवार को ही इस्तीफा दे दिया था। उन्हें कर्नाटक का राज्यपाल बनाया गया है।