Categories
News

को’रोना से ठीक होने के बाद लोगों को हो रहीं ये गंभी’र बीमा’री, लक्षणों को न करें इग्नोर….

हिंदी खबर

नई दिल्ली: भारत में को’रोना वाय’रस (Coronavirus) के बढ़ते संक्र’मण के बावजू’द रिकवरी रेट काफी अच्छा है और देशभर में अब तक 82 प्रतिशत से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं. कोवि’ड-19 से रिक’वर होने के बाद लोग अपनी हे’ल्दी लाइफस्टा’इल शुरू सकते हैं. हालां’कि नई स्टडी में खुला’सा हुआ है कि को’रोना से संक्र’मित हुए लोग लं’बे समय तक स’मस्याओं से जू’झ सकते हैं, जो कोवि’ड संक्रम’ण से होने वाले नुक’सान से अलग हो सकते हैं.

को’विड-19 से ठीक हुए लोगों में हो सकती हैं ये स’मस्याएं
टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपो’र्ट के अनुसार, कोरो’ना वा’यरस (Coronavirus) से ठीक होने के बाद लं’बे समय तक कई स’मस्याओं से जू’झ सकते हैं. पहले से किसी बी’मारी से ग्र’स्त और कमजोर इम्यू’निटी वालों को खास देखभाल की आवश्यकता होगी. को’विड-19 (Covid-19) से उ’बरने वाले रोगि’यों में हा’र्ट अटै’क के मा’मले बढ़ने की कई रि’पोर्ट आई हैं. SARS-COV-2 वाय’रस की वज’ह से डाय’बिटीज की जो’खिम बढ़’ने के अ’लावा कि’डनी डैमे’ज की सम’स्या भी हो सकती है.

को’रोना से ठीक हुए लोगों को लगाता’र स्क्रीनिंग का ज’रूरत
मरी’जों पर बहुत सारे अध्यय’न चल रहे हैं, जिससे सं’केट मिले हैं कि लोगों में हा’र्ट प्रॉब्ल’म के अला’वा मेंट’ल हे’ल्थ प्रॉब्लम की भी जो’खिम कई गु’ना ज्यादा है. रि’पोर्ट के अनुसार, को’विड-19 (Covid-19) से ठीक हुए लोगों को लगा’तार स्क्री’निंग यानी देखभाल की ज’रूरत होती है. रि’सर्च के मुता’बिक, म’रीजों में करीब 6 महीने तक को’रोना से जु’ड़ी कोई न कोई दिक्क’त बनी रहती है. इसे ही लॉ’न्ग कोवि’ड या पोस्ट-कोवि’ड सिं’ड्रोम (Long Covid or Post Covid Syndrome) नाम दिया गया है.

क्या हो सकते हैं लॉन्ग को’विड के लक्ष’ण?
रिपो’र्ट के अनुसार, कोवि’ड-19 से रिक’वर होने के बाद यानी मरी’ज की रिपो’र्ट निगेटि’व (After recovering from Covid-19) आने के बाद भी उनमें हल्की खांसी, सिर दर्द, बदन में द’र्द, थकान, सांस लेने में परेशा’नी या स्वाद और सुगं’ध म’हसूस न होने जैसी दिक्क’तें देखने को मिल सकती हैं.