Categories
Other

BIG NEWS: कोरो’ना पर मोदी सरकार का बडा फैसला, 1 मार्च से फिर पूरे देश में लगेगा…….😱

खबरें

को’रो’ना टी’काकर’ण अभि’यान का अगला चरण 1 मार्च से शुरू होगा। इसमें 60 साल से ज्‍यादा उम्र वालों को वै’क्‍सीन दी जाएगी। केंद्रीय मंत्री प्र’काश जाव’ड़ेकर ने बुधवार को कहा कि ऐसे लोगों की संख्‍या 10 करोड़ से ज्‍यादा है। जाव’ड़ेकर ने बताया कि इस चरण में 10,000 सरकारी केंद्रों और 20 हजार से ज्‍यादा प्रा’इवेट केंद्रों पर टी’काक’रण होगा। कैबि’नेट ब्री’फिंग के दौ’रान, जावड़े’कर ने कहा कि सरकारी केंद्रों पर टी’काक’रण मु’फ्त में होगा। हालांकि निजी सेंटर्स/हॉस्पिटल्‍स में जाने पर वै’क्‍सीन की की’मत चुका’नी होगी। यह कीमत कितनी होगी, यह स्‍वा’स्‍थ्‍य मंत्रा’लय तय करके बताएगा। टी’काक’रण के इस चरण में 45 साल से ऊपर उम्र वाले वे लोग भी शामिल होंगे जिन्‍हें को-मॉ’र्बिडि’टीज हैं।

केंद्रीय मंत्री ने कहा, “सरकारी अस्‍पतालों में टी’का मु’फ्त लगेगा और प्रा’इवेट में वै’क्‍सीन लेने वालों को कुछ शुल्‍क देना होगा। वो शुल्‍क कितना होगा, स्‍वास्‍थ्‍य विभाग दो-तीन दिन में उसके बारे में घोषणा करेगा। अभी सभी संबंधित उत्‍पा’दकों, अस्‍पतालों से च’र्चा की जाएगी।”

से’ल्‍फ रजि’स्‍ट्रेशन की छूट दे सकती है सरकार
भारत में 60 साल से ज्‍यादा उम्र वालों और को-मॉ’र्बि’डिटी’ज से जू’झ रहे लोगों को वै’क्‍सी’न के लिए से’ल्‍फ रजि’स्‍टर करने की अनु’म’ति मिल सकती है। ये लोग उस जगह का चुनाव भी कर पाएंगे जहां इन्‍हें टी’का लगवाना है। इसके लिए मोबाइल ऐप में बदलाव किए गए हैं। पहले 50 से ज्‍यादा उम्र वालों को रजि’स्‍टर करने की अनु’मति देने की बात थी लेकिन फिर इसे बढ़ाकर 60 साल कर दिया गया क्‍योंकि उन्‍हें ज्‍यादा रि’स्‍क है। वैक्‍सी’नेश’न का सर्टि’फिके’ट Co-WIN और डि’जिलॉक’र जैसे सरकारी प्‍लेटफॉर्म्‍स पर उपलब्‍ध होगा।

अबतक 1.21 करोड़ को लग चुका है टी’का
केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, 24 फरवरी की सुबह तक 1,21,65,598 लोगों का टी’काक’रण हो चुका है। इनमें 64,98,300 हेल्‍थ वर्कर्स (पहली डो’ज), 13,98,400 हेल्‍थ वर्कर्स (दूसरी डो’ज) और 42,68,898 फ्रंट’लाइन वर्क’र्स (पहली डो’ज) शामिल हैं। टी’के की पहली खुरा’क के 28 दिन होने पर दूसरी खु’राक के लिए टी’काक’रण 13 फरवरी को शुरू हुआ। फ्रं’टलाइ’न व’र्कर्स का टी’काकर’ण दो फरवरी को शुरू हुआ था। मंत्रालय ने कहा कि 12 राज्यों और केंद्रशा’सित प्रदेशों में 75 प्रतिशत से ज्यादा हेल्‍थ वर्कर्स का टी’काकर’ण हुआ। इनमें बिहार, त्रिपुरा, ओडिशा, गुजरात, छत्तीसगढ़, लक्षद्वीप, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, झारखंड, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश और राजस्थान हैं।