Categories
Other

आखिर क्यों से*स के दौरान कर लेती हैं ऑखें बंद, जानें वजह….

खबरें

सभी जानते हैं कि सेक्स आज मानव जीवन का एक ऐसा पहलू बन गया है जिसे हर कोई जानना चाहता है। हर किसी के मन में से*स को लेकर अलग-अलग सवाल उठते हैं। यौ* सं’बं’धों के बारे में कई तरह के सर्वेक्षण सामने आते रहते हैं। इसी तरह एक और सर्वे सामने आया है, जिसमें यह बात सामने आई है कि सं’बं’ध बनाते समय महिलाएं आंखें क्यों बंद करती हैं।

एक अध्ययन में कहा गया है कि अगर कोई महिला यौ* संब*धों के दौरान अपनी आँखें बंद कर लेती है तो इसका मतलब है कि वह इसका पूरा आनंद ले रही है। सर्वेक्षण से पता चलता है कि 93% महिलाएं आनंद अनुभव करती हैं जब उनकी आंखें बंद होती हैं। यह सर्वेक्षण बताता है कि आंखों का बंद होना म’स्तिष्क के यौ”न अनु’भव से निक’टता से संबं’धित है।

अगर इस दौरान आँखें खुली होती हैं, तो उनका ध्यान अपने साथी पर जाता है। यह भी बताया गया है कि जब महिलाएं चर’म पर होती हैं, तो वे चाह कर भी अपनी आँखें नहीं खोल पाती हैं।शो’धकर्ता’ओं का दावा है कि जिस तरह से छींकते समय कोई भी अपनी आंखें खुली नहीं रख सकता है, उसी तरह महिलाएं भी चोटी के समय अपनी आंखें नहीं खोल पाती हैं।

इस समय मस्तिष्क को आँखें बंद करने का संदेश भेजता है। यौ* इच्छा में विल’क्षणता’एं आवश्यक हैं क्योंकि वे व्यक्तिगत सीमाओं, आदर्श सीमाओं और बाहरी बा’धाओं से मुका’बला करने का एक प्र’भावी तरीका प्रदान करते हैं। यौ* क’ल्पनाओं में नका’रात्म’क जानकारी से बचने और सकारात्मक डेटा को जोड़ने दोनों का कार्य है।

कल्पना को ज्वलं’त और विश्वसनीय बनाने के लिए इसके विपरीत जानकारी को उपेक्षित किया जाना चाहिए। कल्पना की प्रब’ल श’क्तियों को देखते हुए, यह कोई आ’श्चर्य की बात नहीं है कि कई म’हिला’एं कहती हैं कि वे के’वल क’ल्पना के द्वारा सं*ग सुख प्राप्त कर सकती हैं जिसमें कोई शारीरिक उत्ते’ज’ना नहीं है।